19 April 2019

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कानपुर के डॉ शक्ति भार्गव ने अपनी आमदनी छिपाई है. इसका विस्तृत समाचार मुख पृष्ठ में प्रकाशित हुआ है।

डॉ शक्ति भार्गव  ने 11 करोड़ से भी ज्यादा की कीमत से मकान खरीदा है. इस बाबत उसके यहां पर छापेमारी की गई थी. लेकिन अभी तक कोई भी स्पष्ट ब्योरा उसकी ओर से जमा नहीं किया गया है.गुरुवार को उसने अचानक ही प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जूता फेंक दिया. वह अभी पुलिस हिरासत में है. जूता फेंकने वाले डॉ. शक्ति भार्गव को पुलिस ने पूछताछ के बाद शाम को छोड़ दिया?

>> शक्ति भार्गव को जिस प्रकार से पुलिस ने पूछताछ के बाद छोड़ दिया है उसी प्रकार से भ्रष्टाचारी नेता भी कोर्ट से जमानत प्राप्त कर छाती तान कर घूम रहे हैं, चुनाव लड़ा भी रहे हैं और लड़ भी रहे हैं, फिर चाहे वे गांधी हों, चिदंबरम हों या और कोई।  

>> आयकर से अधिक संपत्ति तथा भ्रष्टाचार के मामले में कुछ ेनेता ऐसे भी हैं जो अभी जेल में आराम फरमा रहे हैं, जैसे ओम प्रकाश चोटाला, लालू यादव, शशि कला आदि।

>> स्ष्ट ने मुलायम और अखिलेश के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के केस में दिया ष्टक्चढ्ढ को ये निर्देश मुलायम सिंह यादव, अखिलेश और प्रतीक यादव  के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दिया है.

आय से अधिक संपत्ति मामले में मुलायम सिंह यादव ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया जवाब, कहायह राजनीति से प्रेरित है।

> ्रश्चह्म् 7, 2019 – भोपाल/इंदौर न्यूज़: आयकर विभाग ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी प्रवीण कक्कड़ के घर पर रविवार तड़के छापा मारा। रिपोट्र्स के मुताबिक उनके खिलाफ कई मामलों में जांच चल रही थी। इससे पहले कमलनाथ के भांजे से इडी पूछताछ कर चुका है।

>> इसी प्रकार से कर्नाटक और तामिलनाडू तथा अन्य प्रांतों में देश के बड़ेबड़े नेताओं, मंत्रियों के घर और उनके पार्टी कार्यालयों में भी छापे पड़ चुके हैं और पड़ रहे हैं।

>> बता दें कि डॉ. शक्ति भार्गव ने अपने फेसबुक अकाउंट में खुद को व्हसिल ब्लोअर बताया है। उसका दावा है कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाता रहा है।

>> इसी प्रकार से राहुल को भी  रॉबिन हुड की उपाधि दी जा चुकी हैं या यह उपाधि उन्होंने खुद ही ले ली है।

जिस प्रकार से घोटालेबाज भ्रष्टाचारी डॉ शक्ति भार्गव आयकर विभाग से अपने आपको परेशान और पीडि़त अनुभव कर रहा है उसी प्रकार से जमानत पर घूम रहे नेता और मंत्री तथा अन्य नेता  जिन पर भ्रष्टाचार के मुकदमें चल रहे हैं अपने आपको पीडि़त समझकर भार्गव जैसे ही उससे मिलता जुलता कदम उठाते जा रहे हैं। यही कारण है कि भारत के प्रधानमंत्री को तरहतरह की गालियांं दी जा रही हैं क्योंकि वे भ्रष्टाचारियों को अदालत के दरवाजे तक पहुंचा दिये हैं और प्रधानमंत्री मोदी यह भी कह रहे हेैं कि वे पुन: प्रधानमंत्री बनें तो उक्त नेताओं को जेल में भी भेज कर रहेंगे।

अभी तो भ्रष्टाचारी नेता पीएम को सिर्फ गाली दे रहे हैं बाद में जाने डॉ भार्गव जैसे अनेक लोगों को असंवैधानिक, गैरकानूनी कार्य करने के लिये प्रोत्साहित कर रहे हैैं।

Leave comment