24 April 2019

तीन चरणों के चुनाव की समीक्षा करने के उपरांत संभावित हार को देखते हुए और अभीअभी के समाचारअरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और योगेंद्र यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी होने के कारण अब ऐसा लगता है कि कांग्रेस और आप पार्टी में समझौता हो जायेगा।

>> दिग्गज सितारों के उतरने से दिलचस्प हुआ दिल्ली का दंगल : एक ओर जहॉ बीजेपी को पिछले चुनाव में सभी सीटें बीजेपी ने जीती थीं। ऐसे में इस बार सभी सीटों को बचाने का बीजेपी पर दबाव होगा। उधर कांग्रेस और आप पार्टी चाहेंगे कि वे भाजपा से कुछ सीटें छीन लें।

>> आप और कांग्रेस में दिल्ली में समझौता होने से दोनों ही पार्टियां परेशान हैं आज के समाचारों के अनुसार राहुल गांधी का भी विश्वास डोल गया है और उनके आज के वक्तव्यों से लगता है कि वे पुन: आप से समझौता करने के लिये ललाईत हैं।

>> इसी प्रकार से तीन चरणों के  उत्तरप्रदेश में चुनाव हो जाने के बाद राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी तथा बसपा भी चिंतित है इसीलिये राहुल गांधी ने आज एक आश्चर्यजनक वक्तव्य दिया है, जिसकी चर्चा इस संपादकीय में  होगी।

लोकसभा चुनाव के तीन चरण पूरे, दिल्ली में चुनाव छठे चरण में  : 12 मई को दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर होगी वोटिंग :  2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने जीती थीं सभी सीटें :  इस बार बीजेपी और कांग्रेस ने कई दिग्गजों को दिए हैं टिकट।

>> कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन पर बयान दिया है. राहुल ने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस गठबंधन के लिए आखिरी सेकंड तक तैयार है. उन्होंने कहा है कि वह बीजेपी को हराने के लिए दिल्ली में 4+3 के फॉम्र्यूले पर आम आदमी पार्टी से गठबंधन करने को आखिरी सेकंड तक तैयार रहेंगे लेकिन अरविंद केजरीवाल को हरियाणा में तालमेल की शर्त छोडऩी होगी. बता दें कि दिल्ली में आज नामांकन का अंतिम दिन है. 26 अप्रैल तक उम्मीदवार नामांकन वापस ले सकते हैं. 12 मई को छठे चरण में यहां वोटिंग होनी है।

>> यूपी में महागठबंधन के साथ अपने रिश्तों पर राहुल ने कहा कि हम तो वहां भी गठबंधन चाहते थे लेकिन वे लोग ही तैयार नहीं हुए. हमें चुनाव तो लडऩा ही है लेकिन हमने प्रियंका से कहा है कि यूपी में जहां भी कांग्रेस के उम्मीदवार कमजोर हैं, वहां एसपीबीएसपी उम्मीदवारों को नुकसान नहीं होना चाहिए.

हमारा लक्ष्य बीजेपी को हराना है. जहां भी और जिस भी तरीके से बीजेपी को हराना होगा, हम हराएंगे. प्रधानमंत्री से जुड़े अपने चर्चित नारे के बारे में राहुल ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट का बहुत सम्मान करते हैं, हम उसे लेकर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे लेकिन वह नारा लोगों के दिल में घर कर चुका है. हमने जो नारा दिया है, उसमें सच्चाई है.

>>  आप और कांग्रेस में दिल्ली में समझौता होने से दोनों ही पार्टियां परेशान हैं

तीन चरणों के  उत्तरप्रदेश में चुनाव हो जाने के बाद राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी तथा बसपा भी चिंतित है।

उक्त दोनों बातों की समीक्षा हमने ऊपर की है।  एक और तथ्य है जिसके कारण से कांगे्रस सहित सपा और बसपा भी संभावित हार से चिंतित हैं तीन चरणों के चुनावों की समीक्षा करने के बाद।

इसी कारण से विभिन्न विपक्षी पार्टियों ने  मंगलवार को ईलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम)-वीवीपैट पर मंगलवार को एक बार फिर हमला किया और कहा कि इनमें गड़बडिय़ों की पूरी संभावना है और इनकी प्रोग्रामिंग कर इनमें गड़बड़ी जा सकती है।

Leave comment