6 May 2019

पाकिस्तान से मिलकर यूपीए शासनकाल में कांग्रेस ने हिन्दू भगवा आतंंक का झूठ फैलाया था।   समझौता एक्सप्रेस के मुख्य अपराधी पाकिस्तानी को गिरफ्तार करने के बाद उसे रिहा कर उसके स्थान पर करनल पुरोहित, असीमानंद आदि को गिरफ्तार किया गया।
कांंग्रेस की तैय्यारी तो आरएसएस सरसंघचालक मोहन भागवत को ही इसी सिलसिले में गिरफ्तार करने की थी परंतु उसी दरमियान २०१४ के लोकसभा चुनाव घोषित हो गये और पीएम मोदी प्रधानमंत्री बन गये।
हिन्दू भगवा आतंक के झूठ को सच साबित करने के लिये मालेगांव बम ब्लास्ट में साध्वी प्रज्ञा भारती को भी फंसाने का निर्देश यूपीए सरकार के निर्देश पर उस समय की महाराष्ट्र सरकार ने एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को दिया था।
हिन्दुओं को हिन्दुत्व को आतंकित करने का षडयंत्र अभी भी चालू है। इसके दो अभीअभी के  उदाहरण हम लेे सकते हैं।
>> . बैन के दौरान मंदिर जाने पर साध्वी प्रज्ञा को चुनाव आयोग का नोटिस।
इस मामले परप्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा, “मैं एक सन्यासी हूं। मेरे जीवन का आधार आध्यात्मिकता, भारतीय सांस्कृतिक प्रतीक और मूल्य हैं। अगर कोई मुझे इसका अभ्यास करने से रोकता है, तो मैं इसे उनके ज्ञान पर छोड़ दूंगा,”
चुनाव आयोग की नोटिस राहुल को नहीं  : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को गुडग़ांव में रैली के बाद प्राचीन शीतला माता मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे। यहां उन्होंने पूजा के दौरान कलावा बंधवाया और भगवान की मूर्ति पर पैसे चढ़ाए।

> . जय श्रीराम के नारों पर भड़कीं ममता, 3 गिरफ्तार।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जय श्री राम का नारा लगा रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर भड़क गईं. ममता का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह श्री राम का नारा लगाते भाजपा कार्यकर्ताओं पर भड़कती हुई नजर रही हैं. इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।राफेल सौदे 
इससे स्पष्ट है कि सन्यासिन प्रज्ञा भारती के मंदिर दर्शन के ठीक विपरीत राहुल गांधी और उनकी पार्टी हिंदुओं को विभाजित करती है, दूसरी तरफ वह बेशर्मी से हिंदुओं के मंदिरों में खुद को हिंदू भक्त के रूप में पेश करती है। बेशक हर किसी को मंदिरों का दौरा करने का अधिकार है, अगर वे चाहते हैं, लेकिन जो अस्वीकार्य है वह नकली प्रचार है जो राहुल गांधी द्वारा हिंदुओं और देश को मूर्ख बनाने के लिए फैलाया जा रहा है।
कुछ दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उनका एकमात्र उद्देश्य पीएम मोदी की छवि को धूमिल करना है। अपनी टिप्पणी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ‘Ó गालियां देने से आप मोदी के तपस्या (संघर्ष) के 50 लंबे साल को धूल में नहीं मिला सकते। उन्होंने आगे कहामेरी छवि को धूमिल करके और मुझे छोटा बनाकर, ये लोग देश में अस्थिर और कमजोर सरकार बनाना चाहते हैं,”
पीएम मोदी ने राफेल सौदे पर राहुल गांधी के झूठ का मुकाबला करते हुए कहा, “आपके पिता को उनके दरबारियों नेमिस्टर क्लीनÓ करार दिया था, लेकिन उनका जीवनभृष्टाचार्य नंबर 1 ‘ (नंबर 1 भ्रष्ट व्यक्ति) के रूप में समाप्त हो गया।पीएम मोदी राजीव गांधी के कार्यकाल में किए गए सबसे बड़े घोटालेबोफोर्स स्कैमका जिक्र कर रहे थे
पीएम मोदी पर हमला करना और गालियां देना कांग्रेस पार्टी के लिए सही लगता है, लेकिन जब पीएम मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष और उनके पिता पर हमला किया तो उनके साथ अच्छा नहीं हुआ, उनकी बहन और अन्य कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी पर हमला बोल दिया।

Leave comment