Editorial :- गांधी की हत्या कांग्रेस की अनुमति से हुई थी: रणजीत सावरकर

30 November 2019

प्रियंका वाड्रा ने जेल में नलिनी से मुलाकात क्यों की थी?

सोनिया गांधी ने फांसी की सजा प्राप्त नलिनी के लिये आजीवन कारावास क्यों मांगा था?

 लोकसभा में  बीजेपी के सांसद निशिकांत दुबे ने शुक्रवार को मांग की कि प्रज्ञा ठाकुर को आतंकवादी करार देने वाले बयान के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाया जाना चाहिए। इसके बाद लोकसभा में बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस दिया।

कांग्रेस विधायक ने दी प्रज्ञा ठाकुर को जिन्दा जलाने की धमकी…- मध्य प्रदेश में ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने एक प्रदर्शन कार्यक्रम में भाग लेते हुए कहा कि प्रज्ञा का पुतला नहीं बल्कि वह उनके सामने आने पर उन्हें जिन्दा जलाने की धमकी दी है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष  राहुल गांधी को अनुपम खेर की मूवी में जो कहा गया उस पर गौर करना चाहिये : मैंने गांधी को नहीं मारा गोडसे ने गांधी को सिर्फ एक बार परंतु हर रोज हर पल बार-बार अपने हाथों से गला घोंटकर मारा है पर मुझे कोई दु:ख नहीं।

इस पर सोशल मीडिया में यह भी प्रतिक्रिया संभवत: आईथी कि गोडसे ने तो गांधी की हत्या की बात स्वीकार कर ली थी परंतु जिन्होंने लाल बहादुर शास्त्री और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या की या करवाई उन्होंने गोड़से जैसा साहस क्यों नहीं दिखाया।

वीर सावरकर के पौत्र रणजीत सावरकर ने आज कहा है कि गांधी की हत्या कांग्रेस की अनुमति से हुई थी।

१५ अगस्त १९४७ को भारत जब स्वतंत्र हुआ  तब क्या पंडित नेहरू के साथ महात्मा गांधी नजर आये थे? नहीं। उस समय महात्मा गांधी पश्चिम बंगाल में किसी अज्ञात स्थान में संभवत: आंखों में आंसू लिये हुए थे। ऐसा क्यों?

महात्मा गांधी ने बाद में यह भी कहा था कि अब स्वतंत्रता के बाद कांग्रेस पार्टी को भंग कर देना चाहिये। यदि ऐसा नहीं किया गया तो इसका दुरपयोग बाद में होने की संभावना है।

 विनायक सावरकर के पौत्र रणजीत सावरकर ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि गांधी की हत्या कांग्रेस की अनुमति से हुई, उसका सबसे ज्यादा फायदा कांग्रेस ने ही उठाया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस गांधी की हत्या का राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश करती रही है. कांग्रेस की कोई नीति ही नही है वो सत्ता सुख के लिए कुछ भी कर सकती है ।

इसका साक्षात प्रमाण हिन्दुत्व विचारधारा को लेकर चलने वाली शिवसेना के साथ सोनिया गांधी और राहुल गांधी की कांग्रेस पार्टी का महाराष्ट्र में शासन करना है।

राजनीति में सभी आज के नेता कांच के महलों में आराम फरमाते हैं। इसलिये आपस में पत्थरबाजी करना कीचड़ उछालना…..

Leave comment