Editorial :- केरल से ननकाना साहेब पहुंचा लव जिहाद

4 January 2020

पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आए हजारों सिख शरणार्थियों ने  अन्य हिंदू-जैन-बुद्ध-ईसाई शरणार्थियों के साथ सीएए के समर्थन में प्रदर्शन किये हैं। इन्हें अनदेखी कर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का कहना है ष्ट्र्र देश की सुरक्षा के लिए खतरा है । केरल के बाद संभव है पंजाब विधानसभा में भी सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित हो।

१८ अगस्त २०१८ के समाचार के अनुसार  हृढ्ढ्र सूत्रों के मुताबिक केरल लव जिहाद मामले में जांच एजेंसी को बड़ी लीड मिली थी.  हृढ्ढ्र ने ऐसे 12 लोगों के सिंडिकेट की पहचान की जो केरल में बड़े पैमाने पर गैर मुस्लिमों का धर्म परिवर्तन करने में शामिल रहे हैं. यह भी बताया गया कि सिंडिकेट में शामिल ज्यादातर लोग ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडियाÓ के सदस्य हैं.

अभी यूपी पुलिस के पास में सबूत हैं कि यूपी में सीएए के विरोध में जो हिंसक प्रदर्शन हुए हैं उसमें प्रतिबंधित सिमी और पीएफआई का हाथ है। यहॉ यह उल्लेखनीय है कि सिमी पर प्रतिबंध लगने के तुरंत बाद पीएफआई की स्थापना केरल में हुई और बाद में इसका प्रसार कर्नाटक-बंगाल आदि में हुआ। सिमी प्रतिबंधित होने के बाद आतंकी संगठन इंडियन मुजाइद्दीन की भी स्थापना हुई थी।

इससे स्पष्ट है की सीएए के हिंसक विरोध में लवजिहादी आतंकवादी कट्टरपंथी संगठन  पीएफआई भी है। इसीलिये यूपी पुलिस ने केन्द्र के  गृहमंत्रालय को पीएफआई को प्रतिबंधित करने की सिफारिश की भी की है।

केरल के लव जिहाद की जो चर्चा एक साल पूर्व हुई थी उसका साक्षात्कार प्रदर्शन आज पाकिस्तान के ननकाना साहेब में करा दिया गया है।

    यूपी में ष्ट्र्र के विरोध में सिमी और पीएफआई प्रायोजित हिंसक प्रदर्शन के दौरान हुए पथराव के बाद   अब आज पाक के ननकाना साहेब गुरूद्वारा में हुआ पथराव।

   आज ननकाना साहेब पर हजारों मुस्लिमों ने हमला बोला पत्थरबाजी की। यहॉ यह उल्लेखनीय है कि भीड़ का नेतृत्व पिछले साल ननकाना साहिब की एक सिख लड़की जगजीत कौर को अगवा करने और जबरन धर्मांतरण कर निकाह करने के आरोपी लव जिहादी  मोहम्मद हसन का परिवार कर रहा है।

 पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस हाईकमांड के निर्देश पर पाकिस्तान गये थे। वहॉ पाक आर्मी चीफ बाजवा के गले लगे और इमरान को झप्पी देकर यार-दिलदार कहा। खालिस्तानी गोपाल चावला के साथ फोटो भी शेयर की थी।

इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को खुश करने के लिये किस प्रकार से सीएए का विरोध कर रहे हैं और भविष्य में केरल के रास्ते पर भी इस मुद्दे पर चलने को तैय्यार हैं।

अब आज का ही समाचार है इमरान खान ने ननकाना साहेब पर जो हमला हुआ है उस घटना पर ध्यान हटाने की दृष्टि से बंगलादेश का एक पुराना वीडियो जिसमें वहॉ के पुलिस ने वहीं के मुस्लिम कटटरपंथियों पर काबू करने के लिये बल प्रयोग कर रही थी उसी वीडियो को भारत के उत्तरप्रदेश का बताकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान स्वयं दुस्प्रचार कर रहे हैं।

सीएए का विरोध करने वाली सभी पार्टियों और उनके नेताओं से हमारा अनुरोध है कि वे देशहित में अब कम से कम विरोध करना बंद करें और पाकिस्तान को भारत के प्रति दुस्प्रचार करने का और अधिक अवसर प्रदान न करें।

Leave comment