Editorial :- मोदी विरोध के लिये देश विरोध

11 January 2020

दिल्ली में लगे जिन्ना वाली आजादी के नारे

वामपंथी वेबसाईट के अनुसार सेक्युलर बनने के लिये इस्लाम कबूलें

आज के तीन महत्वपूर्ण समाचार है:

>>दिल्ली के शाहीन बाग में ष्ट्र्र के विरोध में लगे ‘जिन्ना वाली आजादीÓ के नारे।

>>11 आतंकियों के खिलाफ  हृढ्ढ्र ने दाखिल की चार्जशीट, इस्लामी शासन स्थापित करना चाहते थे।

>> 4 मुस्लिमों द्वारा ईसाई प्रचारक का अपहरण, कहा- इस्लाम कबूल करो, नहीं तो चाकू मार देंगे।

कल ओपी इंडिया में एक समाचार प्रकाशित हुआ था – वामपंथी विचार वाले वेबसाईट काउंटरकरेंट्स डॉट ओआरजी में  ९ जनवरी २०२० को प्रकाशित एक लेख के  अनुसार लिबरल्स (मोदी विरोधी) स्वयं को सेक्युलर प्रमाणित करने के लिये इस्लाम कबूलना चाहिये।

इस वेबसाईट में लिखे लेख का विस्तृत विवरण इस संपादकीय के नीचे अगल से है।

आज के समाचार –

 >>दिल्ली के शाहीन बाग में ष्ट्र्र के विरोध में लगे ‘जिन्ना वाली आजादीÓ के नारे।

इस संदर्भ में मुझे अपने एक १३ वर्ष पूर्व लिखे आर्टिकल का स्मरण हो रहा है ।

 जिन्ना –  जिन्ना की पत्नी का परिवार (रूटी) मजबूत भारतीय राष्ट्रवादी था। जिन्ना ने रूटी से शादी की थी जब वह 16 साल की थी और उसकी सबसे अच्छी दोस्त (रूटी के पिता) ने विश्वासघात किया और उसे कभी माफ नहीं किया।

अब जो जिन्ना वाली आजादी के नारे दिल्ली में लगे हैं उसका इस संदर्भ में स्मरण कीजिये कि  हिन्दू परिवार जिन्ना खुद एक ऐसे परिवार से थे जो हिंदुओं में परिवर्तित हो गए थे।

जिन्ना के अनुयायी सारे जहॉ से अच्छा हिन्दोस्ता… गीत लिखने वाले मो.इकबाल- भुट्टो लियाकत अली खान पाकिस्तान में परमाणु बम बनवाने वाले ए.क्यू खान आदि की चर्चा भी इस संपादकीय के नीचे की गई है।

आज का अन्य समाचार है

>>11 आतंकियों के खिलाफ  हृढ्ढ्र ने दाखिल की चार्जशीट, इस्लामी शासन स्थापित करना चाहते थे।

इस संदर्भ में दो बातों का उल्लेख यहॉ करना आवश्यक है  :

1. भारत को विभाजित करने की पाकिस्तान बंगलादेश ने बनाई मुग्लीस्तान की योजना। मुग्लीस्तान लिखकर गुगल में सर्च करने पर इसका विस्तृत विवरण प्राप्त किया जा सकता है।

2. इस संदर्भ में वामपंथी वेबसाईट में प्रकाशित एक लेख के अनुसार सेक्युलर बनने के लिये इस्लाम कबूलें की भी चर्चा अलग से इस संपादकीय के नीचे की गई है।

 उक्त वामपंथी वेबसाईट में प्रकाशित एक लेख में कहा गया है कि हिन्दू मुस्लिमों के साथ मजबूती के साथ खड़े हों अपने आपको इस्लाम में परिवर्तित करके।

आंदोलनकारी विपक्षी नेताओं में जो चाहे वो इस्लाम धर्म स्वीकार कर लें अपने आपको सेक्युलर बनाने के लिये परंतु भारत की १३० करोड़ जनता इस प्रवृत्ति का पुरजोर विरोध करती है।

मलेशिया में विजयन हिन्दू राजा थे। इस वंश का अंतिम हिन्दू राजा ने इस्लाम धर्म स्वीकार कर लिया था। वहा ॅकी उस समय की प्रथा के अनुसार राजा जो धर्म अपनायेगा वहॉ की जनता भी वही धर्म अपनालेती थी। यही कारण था कि वहॉ के हिन्दू इस्लाम धर्म मानने लग गये। और आज मलेशिया भारत का सबसे बड़ा दुश्मन बना हुआ है।

अब वह समय नहीं है कि भारत इस्लामिक देश बन जायेगा। अतएव उक्त वेबसाइट का समर्थन करने वाले नेता अपनी प्रवृत्ति को सुधार लें।

मलेशिया में जैसे हिन्दुओं के खिलाफ जिहाद हुआ था उसी के अनुसार क्या अब भारत के भी विरूद्ध जिहाद मोदी विरोध के नाम पर सत्तालोलुप  ताकतों द्वारा किया जा रहा है?

Leave comment