सचिन को लॉरेस स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड, मेसी और हैमिल्टन संयुक्त रूप से स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर चुने गए

जर्मनी की राजधानी बर्लिन में मंगलवार को सचिन तेंदुलकर को 2011 वर्ल्ड कप विनिंग मोमेंट के लिए लॉरेस स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड के लिए चुना गया है। सचिन के इस लम्हे को ‘कैरीड ऑन द शोल्डर्स ऑफ ए नेशन’ शीर्षक दिया गया है। साथ ही अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी और फॉर्मूला वन ड्राइवर लुइस हैमिल्टन को संयुक्त रूप से स्पोर्ट्समैन ऑफ द ईयर चुना गया। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने 2011 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका को 6 विकेट से हराकर वर्ल्ड कप जीता था।

फाइनल जीतने के बाद खिलाड़ियों ने सचिन को कंधे पर उठाकर मैदान का ‘लैप ऑफ ऑनर’ लगाया था। इस तस्वीर को स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड के लिए सबसे ज्यादा वोट मिले थे। वह सचिन का छठा वर्ल्ड कप था। उससे पहले वे 2003 में फाइनल खेले थे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।

लॉरेस अवॉर्ड के 20 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ
6 बार के फॉर्मूला वन वर्ल्ड चैम्पियन हैमिल्टन और 6 बार के फीफा वर्ल्ड प्लेयर ऑफ द ईयर मेसी के बीच वोटिंग के बाद मुकाबला टाई हो गया था। लॉरेस अवॉर्ड के 20 साल के इतिहास में यह पहली बार हुआ। इसके बाद स्पोर्टिंग ज्यूरी ने दोनों को संयुक्त रूप से अवॉर्ड के लिए चुना। मेसी यह अवॉर्ड पाने वाले पहले फुटबॉलर हैं।

अन्य अवॉर्ड्स

  • अमेरिकन जिम्नास्ट सिमोने बिलेस ने 4 साल में तीसरी बार लॉरेस स्पोर्ट्सवीमन ऑफ द ईयर अवॉर्ड जीता। यह भी लॉरेस अवॉर्ड के इतिहास में पहली बार हुआ।
  • अमेरिका की ही स्नोबॉर्डर क्लोइ किम को लॉरेस वर्ल्ड एक्शन स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर अवॉर्ड के लिए चुना गया। उन्होंने यह अवॉर्ड लगातार दूसरे साल जीता है।
  • दिव्यांग वर्ग में लॉरेस स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर का सम्मान अमेरिकी स्किइंग चैम्पियन ओकसाना मास्टर्स को मिला। उन्होंने वर्ल्ड पैरा नोर्डिक स्किइंग चैम्पियनशिप में 5 गोल्ड और एक सिल्वर जीता।
  • न्यूयॉर्क के फुटबॉल प्रोग्राम साउथ ब्रॉन्स यूनाइटेड को स्पोर्ट फॉर गुड अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। इस प्रोग्राम के जरिए युवाओं को फुटबॉल की शिक्षा दी जाती है।
  • 2019 रग्बी वर्ल्ड कप जीतने वाली दक्षिण अफ्रीका को दूसरी बार लॉरेस वर्ल्ड टीम ऑफ द ईयर अवॉर्ड मिला। उसने फुटबॉल क्लब लीवरपुल और अमेरिका की महिला फुटबॉल टीम को पीछे छोड़ा।
  • जर्मनी की फॉर्मूला-3 ड्राइवर सोफिया फ्लोर्स्च को वर्ल्ड कमबैक ऑफ द ईयर के लिए चुना गया। सोफिया को मकाउ ग्रांड प्रिक्स टूर्नामेंट में एक्सीडेंट के बाद गंभीर चोट आई थी। इससे उबरते हुए उन्होंने वापसी की।
  • वर्ल्ड ब्रेकथ्रू ऑफ द ईयर अवॉर्ड कोलिंबिया के साइकिलिस्ट एगन बर्नाल को मिला। वे टूर डी फ्रांस टूर्नामेंट जीतने वाले सबसे युवा साइकिलिस्ट हैं।

सचिन ने बर्लिन से एक फोटो भी शेयर की है। उन्होंने लिखा, ‘‘लॉरेस वर्ल्ड स्पोर्ट्स अवॉर्ड्स के लिए बर्लिन में रहकर खुश हूं।’’ तेंदुलकर की इस फोटो पर गांगुली ने कमेंट में लिखा, ‘‘तेंदुलकर मैं गलत नहीं था।’’

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.