Editorial :- तीन टिकट महा विकट   राहुल गांधी – हामिद अंसारी – दुष्यंत दवे

19 March 2020

मप्र कांग्रेस सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान कांग्रेस के वकील दुश्यंत दवे ने तर्क दिया कि उपचुनाव तक विश्वासमत टाला जाए। यदि उपचुनाव होने तक कांग्रेस सरकार को सत्ता में बने रहने दिया जाता है तो इससे आसमान नहीं गिरने वाला है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि Óगवर्नर को अधिकार ही नहीं फ्लोरटेस्ट कराने काÓ।

कोरोना से लड़ाई में राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर उठाया सवाल, जवाब मिला- ‘पूरी दुनिया तारीफ कर रही है और तुम..Ó
हामिद अंसारी को आज लगता है खतरे में देश की संस्थाएं।
उक्त तीनों टिप्पणियां सुनकर मुझे ऐसा लग रहा है कि कुछ महापुरूष मुस्लिम लीग और पीएफआई के झंडे तले अपने को पाकर संभव है गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
कार्टून चैनल के बदले न्यूज चैनल देखें
राहुल गांधी के इस ट्वीट पर राष्ट्रीय महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने उन्हें आड़े हाथों लिया है। रेखा शर्मा ने कहा है कि राहुल गांधी एकमात्र ऐसे शख्स हैं जिन्हें भारत में कोरोना रोकने के लिए किए जा रहे प्रयास नहीं दिख रहे हैं।
गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘कोरोना वायरस से निपटने के लिए त्वरित आक्रामक कदम उठाने होंगे।Ó उन्होंने आरोप लगाया, ‘हमारी सरकार निर्णायक ढंग से काम करने में अक्षम है और उसकी इसकी अक्षमता की भारत को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।Ó
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव देव ने राहुल गांधी के ट्वीट के जवाब में लिखा है, ‘पूरे देश में बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग की जा रही है, एडवाइजरी पहले ही जारी की जा चुकी है। हर जगह क्वारंटाइन सेंटर खुल चुके हैं। सरकार पहले ही कोरोना के खिलाफ आक्रामक एक्शन ले रही है। कृपया इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कार्टून नेटवर्क छोड़कर न्यूज चैनल पर जाएं।
कोरोना को रोकने के लिए भारत में किए जा रहे प्रयासों की कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और उनके सुपुत्र कार्ति चिदंबरम भी सराहना कर चुके हैं।
आर्थिक सुनामी आने वाली है
देश में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच कांग्रेस ने आज आर्थिक संकट के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की। एक तरफ राहुल गांधी ने चेताया कि देश में आर्थिक सुनामी आने वाली है तो वहीं लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कच्चे तेल की घटी कीमतों का फायदा सरकार आम लोगों को नहीं दे रही है।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शेयर बाजार में भारी गिरावट को लेकर बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन पर देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने का आरोप लगाया. इसके साथ ही राहुल ने कहा कि अर्थव्यवस्था की स्थिति पर प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए.
गांधी ने यह भी दावा किया कि भारत एक देश के तौर पर संकट की तरफ बढ़ रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था को लेकर बेखबर हैं.
पीएफआई ने कांगे्रस आप पार्टी और अन्य तत्वों की मदद से भारत को, भारत की सरकार को बदनाम करने की नीयत से शाहीनबाग की रचना की है। केन्द्रीय जांच एजेंसियों के अनुसार इस निमित्त पीएफआई ने १२० करोड़ से भी अधिक राशि एकत्रिक कर बैंकों में डिपॉजिट की और उन्हें वितरित किया।
कपिल सिब्बल और दुष्यंत दवे के खातों में भी इसमें से कुछ राशि गई है ऐसा आरोप लग चुका है। दोनों वकीलों का कहना है कि वे पीएफआई से राशि किसी केस में वकालत करने के लिये ली थी। आज दुष्यंत दवे मध्यप्रदेश सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में बहस की और कल कपिल सिब्बल भी बहस करने वाले हैं।
इसे भी एक विचित्र प्रकार का संयोग ही कहिये कि किसी न किसी रूप में दुष्यंत दवे, राहुल गांधी, हामिद अंसारी के तार उस पीएफआई से जुड़े हुए हैं जिसका की नाम यूपी पुलिस और केन्द्रीय जांच एजेंसियां ईडी आदि सीएए के विरोध के प्रदर्शनोँ के दौरान हुई हिंसा में लिया है अर्थात उसे जिम्मेदार ठहराया है।

Leave comment