महाराष्ट्र से छत्तीसगढ़ आ रहे नए संक्रमित, 17 और पॉजिटिव मिले

महाराष्ट्र, खासतौर पर मुंबई से कोरोना संक्रमितों के यहां आने का सिलसिला और बढ़ रहा है। प्रदेश में गुरुवार को कोरोना के 13 नए संक्रमित मिले हैं और उन्हें मिलाकर संख्या 130 हो गई है। गुरुवार को राजनांदगांव में 4, जांजगीर-चांपा में 3, बिलासपुर में 2 तथा राजधानी रायपुर, बालोद, कांकेर व अंबिकापुर में एक-एक मरीज मिले हैं। इनमें से 11 प्रवासी मजदूर हाल में मुंबई से लौटकर क्वारेंटाइन किए गए थे। पूरे 130 संक्रमितों में मुंबई से लौटे संक्रमित मजदूरों की संख्या 50 से अधिक हो गई है। जांजगीर-चांपा व बालोद में नए केस मिलने के बाद ये दोनों जिले हाॅटस्पाॅट की श्रेणी में आ गए हैं। हालांकि प्रशासन का दावा है कि सारे संक्रमित प्रवासी मजदूर हैं और क्वारेंटाइन थे, इसलिए जिले में हाॅट स्पाॅट की बंदिशें लागू नहीं करने पर विचार किया जा सकता है।

प्रदेश में अब 73 एक्टिव केस हो गए हैं, यानी ये लोग अस्पताल में भर्ती हैं और इलाज चल रहा है। जबकि 59 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। गुरुवार को बस्तर संभाग का पहला मरीज कांकेर जिले के दुर्गूकोंदल में पहला कोरोना मरीज मिला। जांजगीर-चांपा, राजनांदगांव, बालोद में मिले मरीज मुंबई से लौटे हैं। जबकि अंबिकापुर का संक्रमित व्यक्ति इलाहाबाद से लौटा है। बिलासपुर के सीपत व तखतपुर के मरीज भी प्रवासी मजदूर हैं।  स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि प्रवासी मजदूरों के कारण कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं इसलिए एहतियातन सभी मजदूरों के सैंपल बारी-बारी से लिए जाएंगे।

छत्तीसगढ़ में कोरोना का आंकड़ा

  • 115 संक्रमित मिले : दुर्ग-10, राजनांदगांव-6, बालोद-13, कवर्धा-8, रायपुर-7, बलौदाबाजार-8, बिलासपुर-6, रायगढ़-5, कोरबा- 29, जांजगीर चाम्पा-11, मुंगेली-1, सरगुजा-2, कोरिया-1, सूरजपुर-7
  • 73 एक्टिव केस : बिलासपुर-7, राजनांदगांव-5, बालोद-15, कवर्धा-2, बलौदाबाजार-8, गरियाबंद-1, रायगढ़-5, कोरबा-1, जांजगीर चाम्पा-11, मुंगेली-1, सरगुजा- 2, कोरिया-1, सूरजपुर- 1, कांकेर-1, रायपुर-1, 
  • 59 मरीज स्वस्थ हुए : दुर्ग-10, राजनांदगांव-1, कवर्धा-6, रायपुर-7, बिलासपुर-1, कोरबा- 28, सूरजपुर- 6
  • पहला मामला : राज्य में कोरोना पॉजिटिव का पहला मामला रायपुर में मार्च के महीने में सामने आया था, वह विदेश से लौटी युवती थी।
  • स्थानीय व श्रमिक : अब जिन लोगों में कोरोना संक्रमण दिख रहा है, उनमें से कोई भी विदेश से लौटा व्यक्ति नहीं है। सभी सामान्य नागरिक या श्रमिक हैं। 

रायपुर में 17 दिन बाद मिला कोराेना मरीज
रायपुर में 17 दिनों बाद कोरोना का नया मरीज मिला है। अब रायपुर में कोरोना के 8 मरीज हो गए हैं। इनमें 7 स्वस्थ हो चुके हैं। गुरुवार को जो 28 वर्षीय मरीज मिला है, वह सड्‌डू बीएसयूपी कॉलोनी का रहनेवाला है। वह राजातालाब के एक होटल में काम कर रहा था। उसके कोरोना कैसे हुआ, स्वास्थ्य विभाग पता लगा रहा है। सांस लेने में परेशानी होने के बाद उसे बुधवार को कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया था। युवक में कोरोना के लक्षण थे। गुरुवार को नेहरू मेडिकल कॉलेज की जांच में उसकी रिपोर्ट पाॅजीटिव आने के बाद अस्पताल में अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही। अंबेडकर में कोरोना मरीज भर्ती कर इलाज करने का पहला केस है। 
बालोद और जांजगीर-चांपा बने नए हाॅटस्पाॅट
बालोद व जांजगीर-चांपा में पिछले आठ दिनों में 14-14 मरीज मिले हैं। गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार किसी क्षेत्र में 14 मरीज मिलने पर वह हॉटस्पॉट की श्रेणी में आ जाता है। जिले का जिक्र नहीं है। चूंकि बालोद व जांजगीर के विभिन्न ब्लॉक से मरीज मिले हैं, इसलिए इसे हॉट स्पॉट के बजाय कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। कोरोना सेल के मीडिया प्रभारी डॉ. अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि गृह विभाग चाहे तो दोनों जिलों को हॉट स्पॉट घोषित कर सकता है, लेकिन नियमों में हल्का सा पेंच है। 
क्वारैंटाइन सेंटर में ही बिगड़ी दोनों युवकों की तबीयत
छत्तीसगढ़ में काेरोना संक्रमण के बीच बुधवार देर रात बेमेतरा और जाजंगीर के क्वारैंटाइन सेंटर में रखे गए दो युवकों की मौत हो गई। दोनों युवक मजदूरी करते थे और एक दिन पहले ही क्वारैंटाइन सेंटर पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि बेमेतरा में साजा ब्लॉक के सेमरिया गांव में बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर में राजू ध्रुव (35) पिता अघनु मुंबई से लौटा था। जबकि जांजगीर में गुजरात से लौटे श्रमिक जुनाडीह झिलमिली गांव निवासी बीरबल (30) पिता नरायण महेशवरी को मुलमुला प्राथमिक शाला में बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया था। दाेनों की मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। स्वास्थ्य विभाग ने उनके सैंपल जांच के लिए भिजवाए हैं।