कानपुर में मिला दुर्लभ प्रजाति का हिमालयन गिद्ध, - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

कानपुर में मिला दुर्लभ प्रजाति का हिमालयन गिद्ध,

चिड़ियाघर अस्पताल परिसर में मौजूद गिद्ध

यूपी के कानपुर में विलुप्त हो चुका गिद्ध मिला है। शनिवार को बेनाझावर ईदगाह कब्रिस्तान के पास मिला गिद्ध हिमालयन बताया जा रहा है। जिसे देखने के लिए मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। क्षेत्रियों ने बताया कि यहां गिद्ध का जोड़ा था, एक गिद्ध मौके से उड़ गया है।

हिमालयन गिद्ध मिलने की जानकारी क्षेत्रियों ने वन विभाग को दी। टीम ने मौके पर पहुंचकर गिद्ध को सुरक्षित तरीके से पकड़कर चिड़ियाघर कानपुर प्रशासन के सुपुर्द कर दिया। जिसे अस्पताल में चिकित्सक की देख-रेख में रखा गया है, ये लुप्तप्राय श्रेणी में है। डीएफओ श्रद्घा यादव ने बताया कि पकड़े गए गिद्ध को 15 दिन के लिए चिड़ियाघर अस्पताल परिसर में क्वारंटीन किया गया है। हिमालयन गिद्ध का जोड़ा दिखने की बात सामने आई है। बेनाझावर इलाके में एक और गिद्ध है उसकी तलाश की जा रही है।

कानपुर चिड़ियाघर के पशु चिकित्सक डॉ. नासिर जैदी ने बताया कि पकड़े गए हिमालयन गिद्ध को अन्य पक्षियों से अलग अस्पताल परिसर में रखा गया है। जिसका वजन करीब आठ किलो है। डॉक्टरों की टीम उसकी निगरानी कर रही है। चिड़ियाघर में पहले से चार हिमालयन गिद्ध मौजूद हैं।

यूपी के कानपुर में विलुप्त हो चुका गिद्ध मिला है। शनिवार को बेनाझावर ईदगाह कब्रिस्तान के पास मिला गिद्ध हिमालयन बताया जा रहा है। जिसे देखने के लिए मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। क्षेत्रियों ने बताया कि यहां गिद्ध का जोड़ा था, एक गिद्ध मौके से उड़ गया है।

हिमालयन गिद्ध मिलने की जानकारी क्षेत्रियों ने वन विभाग को दी। टीम ने मौके पर पहुंचकर गिद्ध को सुरक्षित तरीके से पकड़कर चिड़ियाघर कानपुर प्रशासन के सुपुर्द कर दिया। जिसे अस्पताल में चिकित्सक की देख-रेख में रखा गया है, ये लुप्तप्राय श्रेणी में है। डीएफओ श्रद्घा यादव ने बताया कि पकड़े गए गिद्ध को 15 दिन के लिए चिड़ियाघर अस्पताल परिसर में क्वारंटीन किया गया है। हिमालयन गिद्ध का जोड़ा दिखने की बात सामने आई है। बेनाझावर इलाके में एक और गिद्ध है उसकी तलाश की जा रही है।

कानपुर चिड़ियाघर के पशु चिकित्सक डॉ. नासिर जैदी ने बताया कि पकड़े गए हिमालयन गिद्ध को अन्य पक्षियों से अलग अस्पताल परिसर में रखा गया है। जिसका वजन करीब आठ किलो है। डॉक्टरों की टीम उसकी निगरानी कर रही है। चिड़ियाघर में पहले से चार हिमालयन गिद्ध मौजूद हैं।