जिला मुख्यालय में शुरू हुए तीन दिवसीय  छत्तीसगढ़िया  ओलंपिक खेल का हुआ समापन - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

जिला मुख्यालय में शुरू हुए तीन दिवसीय  छत्तीसगढ़िया  ओलंपिक खेल का हुआ समापन

1 8

जिला मुख्यालय स्थित शासकीय हाई स्कूल मैदान में आयोजित तीन दिवसीय जिला स्तरीय छत्तीसगढि़या ओलंपिक खेल का आज समापन हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री तुलिका कर्मा, राजीव युवा मितान क्लब जिला समन्वयक श्री सलीम रजा उस्मानी, अपर कलेक्टर श्री संजय कन्नौजे, संयुक्त कलेक्टर श्री सुरेन्द्र ठाकुर, खेल अधिकारी श्री शिवनाथ बघेल, सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे। इस दौरान संविधान दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा डॉ. भीमराव अम्बेडकर के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर सभी को संविधान दिवस की शपथ दिलाई। आज समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के उपस्थिति में रस्साकशी खेल का आयोजन भी किया गया जिसमें 18 से 40 वर्ग की महिलाओं ने बड़ी उत्सुकता और उत्साह के साथ खेलते नजर आए। विजेता खिलाड़ियों को मुख्य अतिथि द्वारा प्रमाण पत्र भी वितरण किया गया।

जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री तुलिका कर्मा ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के द्वारा राजीव युवा मितान क्लब के माध्यम से पंचायत स्तर से विलुप्त खेलों को शुरू किया गया। उन्होंने अपने बचपन के अनुभव को साझा करते हुए बताया की कैसे वे अपने भाई के साथ कंचे खेलने जाती थी। उन्होंने विजेता खिलाड़ियों को हौसले के साथ संभाग से राज्य स्तर में परचम लहराने के लिए शुभकामनाएं दी।

जिला समन्वयक श्री सलीम रजा उस्मानी ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने विलुप्त खेलों को जीवंत रखने राजीव युवा मितान क्लब का गठन किया है। खेलों के माध्यम से सभी शारीरिक एवं मानसिक रूप से मजबूत हो रहे हैं। अपर कलेक्टर श्री संजय कन्नौजे ने बच्चों को बधाई देते हुए कहा कि आज की पीढ़ी जो पारंपरिक खेलों से अनभिज्ञ थे तकनीकी दौर में टीवी और मोबाइल में अपना समय व्यतीत करते रहे हैं। लेकिन अब छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के माध्यम से बच्चे उत्साह के साथ खेलते नजर आए। उन्होंने कहा कि यही उत्साह और एकाग्रता अपने जीवन में भी लाएं सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने विजेता खिलाड़ियों को संभाग स्तर और राज्य स्तर में खेल कर अपने जिले का नाम रोशन करने की शुभकामनाएं दी।

6 अक्टूबर से ग्राम स्तर से शुरू हुए इस ओलंपिक खेल में विभिन्न स्तरों में जीत हासिल करते हुए 14 विधाओं में तीन वर्गों में प्रथम श्रेणी में 18 वर्ष तक के बच्चे, द्वितीय श्रेणी में 18-40 वर्ष, तृतीय श्रेणी में 40 वर्ष से अधिक इन तीन श्रेणियों में महिला/पुरुष दोनों वर्गों ने दलीय एवं एकल श्रेणी में अपना हुनर दिखाया। दलीय खेलों में गिल्ली डंडा, पिट्टूल, संखली, लंगड़ी दौड़, कबड्डी, खो-खो, रस्साकशी, बाटी (कंचा) व एकल खेल में गेड़ी दौड़, बिल्लस, फुगड़ी, भौंरा, 100 मी. दौड़, लम्बी कूद शामिल रहें जिला स्तरीय खेल में 1163 खिलाडि़यों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। अब जिला स्तर से चयनित खिलाड़ी संभाग स्तर में 05 दिसंबर से 14 दिसम्बर 2022, अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। और राज्य स्तर पर- 28 दिसम्बर 2022 से 06 जनवरी 2023 तक छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल का आयोजन होगा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ में पारम्परिक खेल गतिविधियों को ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में प्रोत्साहित करने के लिए पहल की गई है।