लड़कियों के मुकाबले लड़के क्यों पिछड़ रहे हैं? राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा- विश्वविद्यालय इस पर करें रिसर्च - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

लड़कियों के मुकाबले लड़के क्यों पिछड़ रहे हैं? राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा- विश्वविद्यालय इस पर करें रिसर्च

लड़कियों के मुकाबले लड़के क्यों पिछड़ रहे हैं? राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा- विश्वविद्यालय इस पर करें रिसर्च

बलिया: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने सोमवार को संभावना जताई कि आने वाले समय में सभी मेडल पर लड़कियों का कब्जा होगा। उन्होंने कहा कि लड़कियों के मुकाबले लड़के क्यों पिछड़ रहे हैं, विश्वविद्यालयों को इसपर अनुसंधान करना चाहिए। उन्होंने जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय, बलिया के चतुर्थ दीक्षांत समारोह को सोमवार को संबोधित किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि जिस तरह से लड़कियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं, उन्हें गर्व की अनुभूति होती है। पटेल ने कहा, आज 80 फीसदी मेडल पर लड़कियां कब्जा कर रही हैं, जबकि लड़कों के हिस्से में बीस फीसदी मेडल ही आ रहे हैं। यही स्थिति रही तो पांच साल बाद आने वाले समय में सभी मेडल पर लड़कियों का कब्जा होगा।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में संभव है कि लड़के कोई मेडल नहीं प्राप्त कर सकें और लड़कियों के उच्च शिक्षित होने के कारण, उनकी शिक्षा को देखते हुए योग्य वर ढूंढे नहीं मिलेंगे। साथ ही उन्होंने विश्वविद्यालय से यह अनुसंधान करने को कहा कि लड़के क्यों पिछड़ रहे हैं? राज्यपाल ने दीक्षांत समारोह को विद्यार्थियों के जीवन की विशिष्ट उपलब्धि का दिन बताते हुए कहा कि विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने के बाद अब उनका सामाजिक जीवन प्रारंभ होगा। वह जहां से इस शिक्षा का व्यवहारिक उपयोग कर सकेंगे। उन्होंने शिक्षा को चारित्रिक गुणों के उच्चतम विकास का आधार बताते हुए कहा कि यह वो शिक्षा है, जो घर में माता-पिता से प्राप्त प्रारंभिक ज्ञान और संस्कार से मिलती है।

उन्‍होंने विद्यार्थियों से कहा कि दुनिया बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है, इसे समझकर स्वयं को निरंतर अपडेट भी करते रहें। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अपने कार्यों की गुणवत्ता एवं अनुसंधान को बढ़ावा देने में नवीनतम शोधों के साथ विस्तार करें। विद्यार्थियों का ध्यान जलवायु परिवर्तन की ओर आकृष्ट करते हुए राज्यपाल ने पर्यावरण संरक्षण, वृक्षारोपण, जल संरक्षण पर भी चर्चा की। समारोह में राज्यपाल ने विश्वविद्यालय की स्मारिका सृजन, समाचार पत्रिका अन्वीक्षण और विश्वविद्यालय के शिक्षकों द्वारा रचित पुस्तकों का भी लोकार्पण किया।

दीक्षांत समारोह में विविध पाठ्यक्रमों के कुल 25,220 विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की गई। विशेष उपलब्धि प्राप्त करने वाले 34 विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक प्रदान किए गए। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं खेलकूद प्रतियोगिता के विजयी छात्र-छात्राओं को भी पदक एवं प्रमाण-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि एवं भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) के मानद प्रोफेसर पद्मश्री प्रोफेसर यज्ञ स्वामी सुंदर राजन ने अपने अनुभवों को विद्यार्थियों से साझा करते हुए उनको भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। समारोह में विशिष्ट अतिथि प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दीं।