Weather Update: ठंड से ठिठुरा उत्तर भारत, आज से मिल सकती है फौरी राहत, इस दिन के बाद से सर्दी फिर दिखाएगी तेवर - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Weather Update: ठंड से ठिठुरा उत्तर भारत, आज से मिल सकती है फौरी राहत, इस दिन के बाद से सर्दी फिर दिखाएगी तेवर

अलाव तापते लोग

देश के उत्तरी क्षेत्र में भीषण सर्दी और घने कोहरे की स्थिति बनी हुई है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ के ज्यादातर क्षेत्रों में सुबह कहीं घना तो कहीं बहुत ज्यादा घना कोहरा छाया रहा। ओस की बूंदें बारिश की तरह टपकती रहीं। राजधानी दिल्ली लगातार पांचवें दिन कई पहाड़ी स्थानों से ज्यादा ठंडी रही। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में ठंड व कोहरे में कमी आने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। आईएमडी महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्रा ने कहा, 10 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है। इससे धीरे-धीरे तापमान बढ़ेगा। उधर, मंगलवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी में कोहरे और ठंड के कारण दिल्ली-काठमांडू, दिल्ली-जयपुर, दिल्ली-शिमला, दिल्ली-देहरादून, दिल्ली-चंडीगढ़-कुल्लू उड़ानें देरी से हैं।

सोमवार को आगरा, लखनऊ, बठिंडा समेत कई स्थानों पर दृश्यता गिरकर शून्य रह गई। दिल्ली के सफदरजंग व रिज में दृश्यता 25 मीटर दर्ज की गई। घने कोहरे ने रेल परिचालन व्यवस्था को पटरी से ही उतार दिया है। सोमवार को 267 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं, इनमें 82 एक्सप्रेस ट्रेनें शामिल हैं। राजधानी समेत 170 ट्रेनें एक से सात घंटे तक की देर से चल रही थीं। 

सर्दी ने देहरादून और नैनीताल को पीछे छोड़ा

राजधानी ने ठंडी में देहरादून, नैनीताल जैसे पहाड़ी स्थानों को पीछे छोड़ दिया। मनाली में न्यूनतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस, नैनीताल में 6.0, देहरादून में 6.5 डिग्री रहा। वहीं, सोमवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान 3.8 डिग्री दर्ज किया गया।

118 घरेलू उड़ानों में देरी

दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईड्डे पर दृश्यता कम होने की वजह से 118 घरेलू उड़ानों में देरी हुई। यहां उतरने वाली 32 घरेलू उड़ानों को भी आसमान में बहुत देर तक चक्कर लगाने पड़े। तीन उड़ानों को जयपुर भेजना पड़ा।

सुबह 5:30 बजे दृश्यता की स्थिति

लखनऊ, आगरा और बठिंडा में दृश्यता की स्थिति शून्य मीटर रही। दिल्ली के सफदरजंग, रिज क्षेत्र, वाराणसी, फुरसतगंज, पटियाला, चंडीगढ़, अंबाला में 25 मीटर। मेरठ, बहराइच, पटना, पालम, हिसार और करनाल में 50 मीटर रही।