छत्तीसगढ़ में हर वर्ग के लोगों में आयी खुशहाली-मुख्यमंत्री श्री बघेल - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

छत्तीसगढ़ में हर वर्ग के लोगों में आयी खुशहाली-मुख्यमंत्री श्री बघेल

2 9

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के फलस्वरूप हर वर्ग के लोगों में खुशहाली आयी है। यहां ग्रामीण हो व शहरी क्षेत्र, हर अंचल में निवासरत लोगों को उन्नति के भरपूर अवसर उपलब्ध हुए हैं, जिससे उनकी आय में वृद्धि हुई है। 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज शाम राजधानी के एक निजी होटल में न्यूज-24 मीडिया गु्रप्स द्वारा आयोजित ‘मंथन छत्तीसगढ़’ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने न्यूज-24 मीडिया समूह से परिचर्चा के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ के समन्वित विकास के लिए महात्मा गांधी के बताए रास्ते का अनुशरण करते हुए सुराजी गांव योजना का बेहतर ढंग से संचालन किया जा रहा है। जिसका गांव, गरीब, किसान तथा मजदूर आदि वर्ग को भरपूर लाभ मिल रहा है। इससे गांव-गांव का विकास सहित उन्हें स्वावलंबी बनाने का कार्य किया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस दौरान ‘छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया’ कहकर कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने इस दौरान जनहित में संचालित विभिन्न योजनाओं राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना तथा राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना आदि कार्यक्रमों का जिक्र करते हुए कहा कि इनसे समाज के खासकर किसान, मजदूर, महिला, आदिवासी तथा युवा वर्ग और गरीब तथा कमजोर वर्ग सहित सभी वर्ग के लोगों की भलाई तथा उत्थान का कार्य हो रहा है। इस तरह सुराजी गांव योजना, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से लोगों को सुगमता से रोजगार मिल रहा है। 

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में तेंदूपत्ता से लेकर 65 प्रकार के लघु वनोपजों की खरीदी हो रही है। किसानों को धान और गन्ना की कीमत सबसे ज्यादा छत्तीसगढ़ में मिल रही है। कोदो कुटकी और रागी का समर्थन मूल्य पर खरीदी कर रहे हैं। पूरे भारत का 74 प्रतिशत लघु वनोपज यहां पर खरीदी की जा रही है। स्वच्छता में पूरे देश में हम 3 साल से पहले नंबर पर  हैं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस दौरान प्रदेश में स्वास्थ्य, शिक्षा तथा रोजगार आदि विभिन्न क्षेत्रों में चलाए जा रहे कार्यक्रमों का भी विशेष रूप से उल्लेख किया।