राजिम माघी पुन्नी मेला केंद्रीय समिति की बैठक धर्मस्व मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

राजिम माघी पुन्नी मेला केंद्रीय समिति की बैठक धर्मस्व मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित

29 8

राजिम माघी पुन्नी मेला केंद्रीय समिति की बैठक आज धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू की अध्यक्षता में राजिम नगर पंचायत के मंगल भवन में संपन्न हुई। बैठक राजिम विधायक श्री अमितेश शुक्ल एवं गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत राम सुंदर दास जी की विशेष उपस्थिति में हुई ।
बैठक में धर्मस्व मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मेले में श्रद्धालुओं की सहुलियत और सुरक्षा को देखते हुए व्यवस्थाएं पूर्ववत और बेहतर रहेंगे। बेरिकेटिंग, सुरक्षा के लिए प्रशासन द्वारा आवश्यक व्यवस्थाएं की जाएगी। मंत्री श्री साहू ने कहा कि परंपरा के अनुरूप इस वर्ष राजिम माघी पुन्नी मेला 5 फरवरी से 18 फरवरी तक आयोजित होगा। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए पूर्व आयोजन की तरह सड़क, शौचालय, बिजली, पानी, स्वास्थ्य सफाई आदि की व्यवस्था की जाएगी। इसी तरह अन्य विभागों को भी उनके कार्य के अनुरूप जिम्मेदारी दी गई है। लोक निर्माण विभाग को सड़कें चौड़ा करने, सोल्डर मरम्मत कराने, जल संसाधन विभाग को संगम और कुंड की तैयारी करने, वन विभाग को बांस बल्ली, पीएचई विभाग को पेयजल, शौचालय और अन्य संबंधित विभागों को पूर्व अनुसार तैयारी के निर्देश दिए हैं तथा विभागों को तत्काल तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने गरियाबंद जिले के कलेक्टर प्रभात मलिक को इस संबंध में आवश्यक तैयारी एवं बैठक करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष पंचकोशी धाम में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे। मेला स्थल में श्री राजीव लोचन, राजिम भक्तिन माता एवं कुलेश्वर भगवान का चित्र लगायें जाएंगे। यहां स्थायी रूप से समिति का गठन करने के सुझाव  भी दिए गए। साथ ही उन्होंने कहा कि मेला में स्थानीय खेल, सी मार्ट,रामायण का आयोजन, महिला समूहों के लिए दुकान, आदि की व्यवस्था रहेगी। मेले में धमतरी, रायपुर जिला की भी सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
राजिम विधायक श्री अमितेश शुक्ल ने कहा की मेले में साफ सफाई की व्यवस्था पुख्ता की जाए। बायो टॉयलेट की व्यवस्था बेहतर होगा। कोशिश की जाए कि मेला के आयोजन में पर्यावरण का ध्यान रखा जाए। श्रद्धालुओं के लिए दाल भात सेंटर की सुचारू व्यवस्था मंच की जाए। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर समिति को आपस मे नियमित अंतराल में विचार विमर्श करते रहना चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री एवं धर्मस्व मंत्री को नए स्थल चयन और उसके विकास के लिए धन्यवाद दिया ,कहा कि इससे हर साल खर्च होने वाली राशि की बचत होगी।
  गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महामंडलेश्वर महंत राम सुंदर दास ने कहा कि राजिम मेला का आयोजन गरिमा के अनुरूप किया जाए। यहां ऐसी व्यवस्था करने की आवश्यकता है जिससे बारह महीने एनीकट में पानी रहे। पंचकोशी धाम में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन हो।
कलेक्टर प्रभात मलिक ने बैठक में राजिम माघी पुन्नी मेला के बेहतर और दिए गए निर्देशानुसार  आयोजन का विश्वास दिलाया। उन्होंने बताया कि गरिमा के अनुरूप मेले के आयोजन सुनिश्चित किया जाएगा। इस दौरान मौजूद नागरिकों और पत्रकारों ने भी आवश्यक सुझाव रखें। इनमें राजिम एनीकट में बारहमासी पानी की व्यवस्था, फॉगिंग मशीन, बायो टॉयलेट, पंचकोशी धाम में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने, राजिम भक्तिन माता समिति द्वारा निशुल्क भंडारा का आयोजन हेतु डोम की व्यवस्था करने,मास्क उपलब्ध कराने,नदी की सफाई करने व बस स्टॉपेज चिन्हांकन करने के सुझाव आये।
बैठक में केन्द्रीय समिति के सदस्य एवं पूर्व सांसद श्री चंदूलाल साहू, राजिम नगर पंचायत के अध्यक्ष श्रीमती रेखा सोनकर, गोबरा नवापारा पालिका के अध्यक्ष श्री धनराज मध्यानी, जनपद पंचायत फिंगेश्वर के अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा साहू, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती लक्ष्मी साहू, भाव सिंह साहू, राघोबा महाडिक, स्थानीय जनप्रतिनिधि, कलेक्टर गरियाबंद श्री प्रभात मलिक, पुलिस अधीक्षक श्री अमित काम्बले, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती रोक्तिमा यादव, अनुविभागीय अधिकारी सुश्री पूजा बंसल व श्री भूपेंद्र साहू, सीएमओ श्री चंदन मानकर सहित समिति के सदस्य, अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।