झारखंड में बढ़े बम मारकर हत्या करने के मामले, जानें कब- कब हुई घटना - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

झारखंड में बढ़े बम मारकर हत्या करने के मामले, जानें कब- कब हुई घटना

सांकेतिक फोटो

Ranchi : झारखंड में इन दिनों बम मारकर हत्या करने के मामले बढ़ रहे है.अपराधी खुलेआम बम का इस्तेमाल कर रहे है. 11 जनवरी की सुबह देवघर जिले के नगर थाना क्षेत्र में जमीन कारोबारी लक्ष्मी यादव की बम मारकर सरेआम हत्या कर दी गई.वैसे यह कोई पहला मामला नहीं है कि झारखंड में हत्या के लिए बम का प्रयोग किया गया है.

इसे भी पढ़ें – पलामू : आजसू नेता सतीश कुमार ने अंचलाधिकारी पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, कहा- जनता त्राहि-त्राहि कर रही

हिंदूवादी नेता कमलदेव गिरी की बम से मारकर हुई थी हत्या

पश्चिम सिंहभूम जिले के हिंदूवादी फायरब्रांड युवा नेता सह गिरिराज सेना के संरक्षक कमलदेव गिरि की बम मारकर हत्या कर दी गई थी. यह घटना 12 नवंबर 2022 की शाम 6:40 बजे चक्रधरपुर नगर के भारत भवन चौक स्थित पंचर दुकान के पास हुई थी. आनन फानन में स्थानीय लोगों ने घटनास्थल से उठाकर रेलवे अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था.

इसे भी पढ़ें – जोशीमठ आपदा : लोग आशियाना छोड़ने को तैयार नहीं, उचित मुआवजे को लेकर प्रदर्शन जारी, बारिश, बर्फबारी से खतरा बढ़ा

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

देवघर में जमीन विवाद में बम मारकर हत्या 

देवघर में जमीन विवाद में बमबाजी हुई थी. अपराधियों ने बम मारकर सलौनाटांड़ निवासी गणेश महथा उर्फ मंगरु महथा की हत्या कर दी थी. घटना नगर थाना क्षेत्र के सलौनाटांड़ में 14 नवंबर 2022 को हुई थी. जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था. इस घटना के दो महीने के बाद यानी 11 जनवरी 2023 को देवघर जिले के नगर थाना क्षेत्र के कोरियासा राजकृत मध्य विद्यालय के सामने बम से मारकर जमीन कारोबारी लक्ष्मी यादव की हत्या कर दी गई.

पाकुड में मुखिया और उसकी बेटी की बम मारकर हत्या 

पाकुड़ जिले के कोटालपोखर-पाली रोड स्थित पहलवान थान के समीप पुल पर 31 दिसंबर 2021 की रात आधा दर्जन अपराधियों ने मानिकापाड़ा के मुखिया कौसर आलम की कार पर ताबड़तोड़ पांच बम फेंके. इस घटना में मुखिया व उनकी तीन साल की बेटी जुवाइरा नेहार खातून की मौत हो गई थी.

इसे भी पढ़ें – सुखाड़ का जायजा लेने पहुंची केंद्रीय टीम, राज्य सरकार ने 226 प्रखंड को घोषित किया है सूखाग्रस्त

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।