Lok Shakti

Nationalism Always Empower People

पूर्व विशप के देशभर के 10 ठिकानों पर ED ने मारा छापा,

Default Featured Image

Ranchi: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने पूर्व विशप पीसी सिंह के झारखंड समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, रांची के बहुबाजार से जयंत अग्रवाल नाम के व्यक्ति हिरासत में लिए जाने की खबर है. हालांकि इसकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो पाई है. ईडी ने बुधवार को चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया (सीएनआई) के मॉडरेटर जबलपुर के पूर्व बिशप पीसी सिंह के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और झारखंड में छापा मारा. उनके परिवार के कुछ सदस्यों के आवासों पर भी छापेमारी की गई है. जानकारी के अनुसार, ईडी की कई टीमों ने जबलपुर, रांची और नागपुर सहित 10 ठिकानों पर छापेमारी की, और कई आपत्तिजनक दस्तावेजों को जब्त करने का दावा किया.

पिछले साल ईडी ने दर्ज किया था मामला

पिछले साल सितंबर में ईडी ने पीसी सिंह और उनके बेटे पीयूष पॉल के नाम वाली ईओडब्ल्यू की प्राथमिकी का संज्ञान लेते हुए धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया था. इसके बाद पीसी सिंह को 12 सितंबर को ईओडब्ल्यू द्वारा जबलपुर में आईपीसी और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत दर्ज एक मामले के संबंध में हिरासत में ले लिया गया था. छत्तीसगढ़ के कार्यकर्ता नीलेश लॉरेंस, जिसकी शिकायत के कारण ईओडब्ल्यू ने तलाशी ली थी, उनका आरोप है कि सिंह ने 2016 में सीएनआई की एक प्रमुख संपत्ति को पट्टे पर दे दिया था.

निजी इस्तेमाल के लिए फंड डायवर्ट करने का भी आरोप

पीसी सिंह पर बोर्ड की सहमति के बिना नागपुर डायोकेसन बोर्ड ऑफ एजुकेशन का नाम बदलने और खुद को उसका अध्यक्ष नियुक्त करने के लिए अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया था. उन पर जबलपुर डायोसिस में शैक्षणिक संस्थानों से धार्मिक संस्थानों में और अपने निजी इस्तेमाल के लिए फंड डायवर्ट करने का भी आरोप है.

You may have missed