Lok Shakti

Nationalism Always Empower People

उत्तर बस्तर कांकेर : गणेशोत्सव आयोजन के संबंध में हुई शांति समिति की बैठक

उत्तर बस्तर कांकेर, 18 सितम्बर 2023

कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला की अध्यक्षता में तथा स्थानीय विधायक श्री शिशुपाल शोरी की विशेष उपस्थिति में जिला कार्यालय के सभाकक्ष में सोमवार को गणेश उत्सव के संबंध में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई, जिसमें नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष जितेन्द्र ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक श्री अनुराग झा, एसडीएम कांकेर मनीष साहू सहित गणेशोत्सव समितियों एवं नगर निकाय के पदाधिकारी मौजूद थे। शांतिपूर्वक गणेश उत्सव आयोजन के संबंध में बैठक में उपस्थित सदस्यों से कलेक्टर ने सुझाव मांगे तथा सार्वजनिक उत्सव आयोजन के संबंध में शासन प्रशासन का सहयोग करने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि कांकेर जिले में हमेशा सौहार्द्र पूर्ण ढंग से सभी त्यौहार को मनाते आये हैं, जिसे कायम रखा जाए। उच्चतम न्यायालय द्वारा दिये गये निर्देशों के पालन में रात्रि 10 बजे तक ही मूर्तियों का विसर्जन किया जावे। उच्चतम न्यायालय, नेषनल ग्रीन ट्रिब्यूनल और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय व छत्तीसगढ़ शासन के दिषा निर्देषों की विस्तार से जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि जिला प्रषासन अथवा सक्षम प्राधिकारी से विधिवत अनुमति के बाद ही स्वागत द्वार, मंच-पंडाल का निर्माण तथा सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित किया जावे। गली, मार्ग, संकरे रास्ते, सड़कों के मध्य स्वागत द्वार अथवा मंच-पंडाल स्थापित न करें। मूर्ति स्थापना या सार्वजतिक कार्यक्रमों के आयोजन के लिए विद्युत विभाग से विधिवत विद्युत कनेक्षन ले लिया जावे। अवैधानिक रूप से बिजली तार (हुकिंग) से कनेक्षन न जोड़े। सार्वजनिक कार्यक्रम के आयोजन मे पर्याप्त अग्नि शामक यंत्र व अग्नि सुरक्षा के संसाधन रखा जावे। भोज भण्डारा का रसोई, कार्यक्रम स्थल से पृथक रखा जाए तथा प्लास्टिक से बनी चीजे जैसे-कप, प्लेट, थाली, ग्लास, दोना-पत्तल, कैरीबैग इत्यादि का उपयोग न करे। मूर्ति विसर्जन हो या झांकी, शोभायात्रा व जुलूस, प्रशासन द्वारा चिन्हांकित रूट चार्ट और सरोवर में ही किया जावे। आयोजन के दौरान बजने वाले गीत, संगीत, गरिमामय व भक्तिपूर्ण होना चाहिए।

उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालय व नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा पारित निर्णय के अनुसार ही डीजे, लाऊण्डस्पीकर, ध्वनी विस्तारक यंत्र का साउण्ड निर्धारित सीमा 10 डी.बी. (ए) तथा 75 डी.बी. (ए) में रखा जावे। डीजे, साउंड सिस्टम चलाने के लिए रात्रि 10 बजे तक का समय सीमा निर्धारित किया गया है। गणेषोत्सव आयोजन  समितियों को अपना-अपना वालिंटियर नियुक्त करने के लिए भी उनके द्वारा निर्देषित किया गया। विधायक श्री षिषुपाल शोरी ने कहा कि सभी गणेष उत्सव आयोजन समितियां अपना वालिंटियर नियुक्त करें अनुशासित एवं आर्कषक झांकियों को पुरस्कृत किया जायेगा। अतिरिक्त अपुलि अधीक्षक श्री अनुराग झा ने कहा कि हमारे कार्यों को किसी को तकलीफ नहीं होनी चाहिए, ऐसा मिषाल पेष करें। बैठक में समिति के पदाधिकारियों ने भी अपने सुझाव रखे।