रामदेव बाबा vs जैक डोरसे

10 August 2020

>> भारत-चीन विवाद के बीच आज यह शुभ समाचार है कि वामपंथी चीन परस्त और कट्टरपंथी पाक परस्त ताकतों के विरोध के प्रतीक लोकतंत्र और सहिष्णुता के प्रचारक रामदेव बाबा और उनकी  पतंजलि आईपीएल की प्रायोजक बनने का प्रयास कर रही है।

पतंजलि के प्रायोजक बनने पर बदल जायेगी आईपीएल की दुनिया, ट्वीटर पर वायरल हो रहे हैं मीम्स।

>> ठीक इसके विपरीत आज का ही एक दूसरा समाचार है कि चीन परस्त वामपंथी विचारधारा वाले  कट्टरपंथी मुस्लिम समूह को प्रोत्साहित करने वाले ट्वीटर के प्रमुख जैक डोरसे टीकटॉक को खरीदने की कोशिश कर रहे हैं।

भारत के क्रिकेट बोर्ड ने घोषणा की है कि वह चीनी स्मार्टफोन कंपनी वीवो को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के शीर्षक प्रायोजक के रूप में छोड़ देगा।

चीन के बने मोबाइल फोन को भारत में बाजार में प्रतिबंधित किया जा सकता है।

19 सितंबर से शुरू होने वाले इस 13वें संस्करण से ठीक पहले कई कंपनियां चीनी समूह वीवो की जगह लेने को तैयार है। इस बीच खबर आ रही है कि योगगुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि भी बीसीसीआई के संपर्क में है और यूएई में होने वाले इस टूर्नामेंट की प्रायोजक बनने को तैयार है।

अर्थात Patanjali IPL w®w®Ñ  2020: आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में शामिल हुई योगगुरु बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि आयुर्वेद।

 बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि आयुर्वेद भी इस साल आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में शामिल हो गई है। चीनी कंपनी वीवो के हटने के बाद पतंजलि इस मौके का फायदा उठाकर अपने ब्रैंड को वैश्विक स्तर पर ले जाना चाहती है।

•           साल 2020 के आईपीएल स्पॉन्सरशिप के लिए पतंजलि ने दिखाई रूचि

•           चीनी कंपनी वीवो के हटने के बाद इस साल खाली हुई टाइटल स्पॉन्सर की जगह

•           पतंजलि के अलावा, ऐमजॉन, बायजूज और ड्रीम 11 जैसी कंपनियां भी दौड़ में

•           वीवो से बीसीसीआई को मिलती है हर साल 440 करोड़ रुपये की भारी रकम

>> सोशल मीडिया पर वामपंथि-कट्टरपंथियों का ही कब्जा रहना चाहिये: इस संदेश के वाहक ट्वीटर अब माईक्रोसॉफ्ट की प्रतिस्पर्धा में कूद पड़ा है टिकटॉक को खरीदने के लिये।

लोकप्रिय चीनी ऐप टिक टॉक को कई देश बैन करने की तैयारी कर रहे हैं। भारत ने पहले ही देश में टिक टॉक समेत कई चीनी ऐप को बैन कर दिया है। इससे परेशान चीन की कंपनी बाइटडांस टिक टॉक को बेचने की तैयारी कर रही है।

अब तक सिर्फ माइक्रोसॉफ्ट का ही नाम आगे आ रहा था लेकिन, अब ऐसी रिपोट्र्स आ रही हैं कि, अब माइक्रोसॉफ्ट की प्रतिस्पर्धा में ट्विटर भी इस रेस में आ गया है। इससे अब ये कयास तेज़ हो गए हैं कि, ट्विटर एक ऐसा प्लेटफार्म अपने पास रखना चाहता है, जिससे वो अपनी वामपंथी, कट्टरपंथी विचारधारा को बेरोक-टोक चलाता रहे। यदि आप ट्वीटर को ट्रेंडिग को लींक करेंगे तो आपको प्रतीत होगा कि उसमें वामपंथी, कट्टरपंथी विचारधाराओं के हैशटैग को ही ज्यादा प्रसारित किया जाता है। निष्पक्ष जाहिर करने के लिये ट्वीटर नाम के लिये कुछ हैशटैग वामपंथी विरोधी विचार वालों के रहते हैं।

ट्विटर का इस दौड़ में उतरने का एक पहलू और भी है। ट्विटर दुनिया भर में अपने पक्षपातपूर्ण व्यवहार के लिए जाना जाता है। अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉम्र्स की तरह ही ट्विटर भी, दक्षिणपंथी विचारों का विरोधी है। हाल ही में, ट्विटर ने एक वीडियो, जिसमें Newyork के टाइम्स स्कायर में एक रुश्वष्ठ स्क्रीन पर राम मंदिर और भगवान राम की फोटो दिखाई गई थी, को अकारण ही हटा दिया गया था। जबकि, हिंदू धर्म का मजाक बनाने वाले videos से लेकर हिन्दुओं के विशेष वर्गों पर होने वाले प्रहारों के खिलाफ ट्विटर की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होती। इतना ही नहीं ट्विटर के सीईओ ने एक साक्षात्कार में कहा था कि, उनकी कंपनी के अधिकांश कर्मचारी वामपंथी विचारधारा के हैं जिसके कारण उनकी कंपनी में कार्यरत दक्षिणपंथी विचारधारा के कर्मचारी खुल कर अपनी आवाज नहीं उठा पाते ।

/////

वामपंथी, कट्टरपंथी विचारधारा को प्रचारित करने हेतु 

TikTok  खरीदने के लिये माइक्रोसाफ्ट का प्रतिस्पर्धी बना ट्वीटर

लोकप्रिय चीनी ऐप टिक टॉक को कई देश बैन करने की तैयारी कर रहे हैं। भारत ने पहले ही देश में टिक टॉक समेत कई चीनी ऐप को बैन कर दिया है। इससे परेशान चीन की कंपनी बाइटडांस टिक टॉक को बेचने की तैयारी कर रही है।

ऐसी खबरें कई दिनों से सामने आ रही है। अब इस बीच बड़ी खबर सामने आई है कि टिक टॉक को जल्द ही ट्विटर खरीद सकता है। दोनों कंपनियों के बीच जल्द ही डील होने की संभावना है।

मिली जानकारी के मुताबिक चीनी एप टिक टॉक के अमेरिकी ऑपरेशन को खरीदने के लिए इसका मालिक कंपनी बाइट डांस से संपर्क साधा है। जबकि विशेषज्ञों ने ट्विटर की वित्तीय हालात को लेकर सवाल खड़े किए हैं। उनको मुताबिक, संदेह है की ट्विटर इस सौदे के लिए पर्याप्त रकम इक_ा कर पाएगी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर के शेयरधारकों में से एक निजी इक्विटी फर्म सिल्वर लेक ने सौदे को पूरा करने के लिए मदद की पेशकश की है। इस मामले के जानकारों ने ऐसी बातों को दरकिनार करते हुए कहा है कि माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर माइक्रोसॉफ्ट को पीछे छोड़कर 45 दिनों में इस डील पक्का कर लेगा।

ट्विटर का बाजार मूल्य 30 अरब डॉलर के करीब है, जो टिक टॉक की एसेट्स के कीमत के बराबर है। इस ट्विटर को डील के लिए अतिरिक्त पैसे जुटाने होंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिक टॉक को प्रतिबंधित करने वाले कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर कर चुके हैं, लेकिन यह आदेश 15 सितंबर से प्रभावी होगा। इस दौरान टिक टॉक को या तो कोई अमेरिकी कंपनी खरीद ले अन्यथा उसे अमेरिका से जाना होगा।

इसलिए बढ़ाया है डील का हाथ

ट्विटर इसलिए चीनी एप को खरीदना चाहता है कि, क्योंकि उसे लगता है कि माइक्रोसाफ्ट की तुलना में उसे कम रेगुलेटरी नियमों का पालन करना होगा। इसके साथ ही उसे चीन से पडऩे वाले किसी तरह के दबाव का भी सामना नहीं करना होगा, क्योंकि ट्विटर चीन में नहीं है।

अमेरिका में टिकटॉक की डील से फायदा किसे होगा?

रूद्बष्ह्म्शह्यशद्घह्ल, ञ्ज2द्बह्लह्लद्गह्म्, ञ्जद्बद्मह्लशद्म ष्ठद्गड्डद्य: ह्यूस्टन : चीन के स्वामित्व वाले वीडियो साझा करने वाले ऐप टिकटॉक का अनिश्चित भविष्य और एक अमेरिकी कंपनी द्वारा उसकी संभावित खरीद से अमेरिकी उपयोगकर्ताओं के डेटा तक पहुंच को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताएं घट सकती हैं. प्रौद्योगिकी क्षेत्र के एक विशेषज्ञ ने यह बात कही है.

वर्जीनिया टेक स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन में मल्टीमीडिया जर्नलिज्म के सह प्रध्यापक, माइक होर्निंग ने कहा कि टिकटॉक के विकास ने सुरक्षा विशेषज्ञों के बीच चिंताएं बढ़ा दी हैं क्योंकि इसका अल्गोरिद्म बहुत शक्तिशाली है जो उपयोगकर्ताओं की विशेषताओं के आधार पर रुचि के अनुसार कंटेट तैयार करता है.

आपको बता दें कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई चर्चा के बाद वह टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार को खरीदने के लिए बातचीत जारी रखेगी.

Trump signs orders banning US business with TikTok owner ByteDance and Tencent’s WeChat

 President Donald Trump signed an executive order on Thursday banning transactions with ByteDance, the parent company of popular app TikTok . The White House also announced that he signed a similar order banning transactions with WeChat, the messaging app owned by Tencent that is ubiquitous in China, but has a much smaller presence than TikTok … Continue reading.

*/*

Microsoft pursuing TikTok purchase by September 15th, may invite US investors to deal

Microsoft has posted a statement today on its corporate blog that says it will continue discussions on a potential TikTok purchase in the U.S. As a part of the statement, it says that it may invite other “American investors” to participate on a minority basis. The company says that this is a result of conversations … Continue readingMicrosoft pursuing TikTok purchase by September 15th, may invite US investors to deal

DORSEY INSULTED HINDUS

CHALLENGE TRUMP

GURDIAN TWITTER AS VOICE

67%

FAKE AC LOKSABHA ELECTION

OCTOBER 7, 2015

An old tweet by Twitter’s new CEO Jack Dorsey has suddenly gone viral on social media sites. It is telling the divergent feelings of Hindus.

Dorseneyahtweet 24 May. In this tweet, Hindu Gods are deities. Twitterati have seen their faces in their photos, in the face of the gods of the gods.

Anna MM Vetticad @annavetticad Nov Nov 18, 2018

During Twitter CEO @jackÓs visit here, he & TwitterÓs Legal head @vijaya took part in a round table with some of us women journalists, activists, writers & @TwitterIndiaÓs @amritat to discuss the Twitter e&perience in India. A very insightful, no-words-minced conversation

Indian Media urge’s modi to take similar steps

नविका  कुमार के साथ  डिबेट पर, ट्रम्पने ‘वामपंथीÓ ट्विटर के लिए बंदूकें उठाईं और ट्विटर की कानूनी प्रतिरक्षा को खत्म कर दिया। भारत में बड़े पैमाने पर बहस छिडग़ई। भारत के ‘दक्षिणपंथियोंÓ का स्वागत हैऔर पीएम नरेंद्र मोदी से भी ऐसा ही कदम उठाने काआग्रह किया। ‘लुटियंस ट्विटर पर वश में करने का समय?Ó

Óक्या भारत की दक्षिण पंथी टिप्पणी का कोई मान्य बिंदु है, जब वह सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर पूर्वाग्रहऔर वामपंथी अनुनय के सदस्यों के प्रति सहिष्णुता का आरोप लगाता है?Ó

ट्विटर केवल वही नियंत्रित करता हैजो उसे विनियमित करने जैसा लगताहै। कहते हैं, वरिष्ठअधिवक्ता संजय हेगड़े।

ट्विटर पर बैठे कुछ निजी अधिकारी अब यह तय करने की शक्ति रखते हैं कि किसे संवाद करना है। यह एक राजनीतिक एकाधिकार है। कहतेहैं, एडवोकेट ईश्वरन सिंह भंडारी।

राइट-विंग समर्थकों का आरोप, ञ्ज2द्बह्लह्लद्गह्म् कर रहा है भेदभाव 3 द्घद्गड्ढ 2019

ट्विटर के खिलाफ भेदभाव का आरोप लगाकर राइट-विंग समर्थक कैंपेन चला रहे हैं. ऐसे में ट्विटर पर ही #ProtestAgainstTwitter ट्रेंड कर रहा है. आरोप है कि ट्विटर के प्लेफॉर्म पर गैर-वामपंथी विचारधारा के लोगों के साथ ‘सौतेलाÓ व्यवहार किया जारहा है. उनके ट्विटर हैंडल को बैन करने और सस्पेंड करने जैसे कदम उठाए जा रहे हैं.

इस मामले को लेकर राजधानी के साकेत मेट्रो स्टेशन के बाहर एक प्रोटेस्ट मार्च का आयोजन भी किया गया. प्रदर्शन करने वालों का कहना है कि ट्विटर अपने यूजर्स के वेरिफिकेशन को लेकर भी भेदभाव करता है और उनका कहना है कि शिकायत होने की स्थिति में ट्विटर इंडिया उनके समर्थकों के अकाउंट को बंद करने में जरा भी देर नहीं लगाती.

राइट विंग समर्थक यूजर्स ने ट्विटर को कांग्रेस का ट्विटर बताते हुए लिखा कि कानून सभी के लिए एक समान होना चाहिए. लेकिन ऐसा कईबार हुआ है जब इस प्रकार का भेदभाव हमें ट्विटर की तरफ से देखने को मिलता है

#ProtestAgainstTwitter भारतमें 2019 चुनावों से पहले कई उपयोगकर्ताओं ने ट्विटरपरएंटी-राइटविंग पूर्वाग्रह का आरोप लगाया

प्रदर्शन और कैंपेन चलाने वाले लोगों का आरोप लगाया है कि वामपंथी और लिबरल लोगों के अकाउंट को लेकर ट्विटर का एप्रोच काफी एकतरफा है और उनके यूजर्स काअकाउंट बार-बार शिकायत करने के बाद भी बंद नहीं होता और वोल गातार अपने आईडी से प्रोपेगेंडा फैलाने का काम करते रहते हैं.

सोशल मीडिया डेमोक्रेसी (YSMD) के युवा रविवार कोमाइक्रो-ब्लॉगिंगसाइट, ट्विटर के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। विरोध का मुख्य एजेंडा लोक सभा चुनाव से पहले ट्विटर की पूर्वाग्रह के बारे में जागरूकता पैदाकर ना है।

यूथ फ़ॉरसोशल मीडियाडेमोक्रेसी (YSMD) ने रविवार को माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट, ट्विटर केखिलाफविरोध प्रदर्शन किया। विरोध का मुख्य एजेंडा लोक सभा चुनाव से पहले ट्विटर की पूर्वाग्रह के बारे में जागरूकता पैदा करना था।

आउटफिट द्वारा प्रेस विज्ञप्ति में लिखा है: “पिछले कुछ महीनों से, ट्विटर और फेसबुक व्यवस्थित रूप से ऐसे व्यक्तियों के मुक्त-भाषण परअंकुश लगाने की कोशिश कर रहे हैं, जो गैर-वामपंथी विचार धाराकी सदस्यता लेते हैं, उनके हैंडल को निलंबित करके, उनकी पहुंच को प्रतिबंधित करते हैं और रुझानों को हटाते हैं।रुझानों की सूची से।हालांकि, यह झुकाव वाले विचारधाराओं और कांग्रेस के वरिष्ठनेताओं के आक्रामक, अपमानजनक और धमकीभरे ट्वीट को नजर अंदाज कर रहा है। ” संगठन ने दिल्ली के साकेत से लाडोसरायत क ट्विटर का क्षेत्रीय कार्यालय स्थित है, जहांमौन विरोधप्रदर्शन किया।

@ANI

दिल्ली: ट्विटर इंडिया के कार्यालय के बाहर ‘यूथ फ़ॉर सोशल मीडिया डेमोक्रेसी’ के सदस्य।प्रदर्शन कारियों का कहना है “ट्विटर ने एक दक्षिण पंथी विरोधी रवैया अपना लिया है।वे हमारे अकाउंटऔर ट्वीट्स के इंप्रेशन को रोकते हैं।हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे, उन्हें अपनी पॉलिसी बदलनी होगी।”

5:35 AM – Feb 3, 2019

YSMD ने ट्विटर पर चुनिंदा फर्जी खबरें फैलाने काआरोप लगाया। सदस्योंके अनुसार, वामपंथी प्रचार कवाले लोगों के ट्विटर हैंडल को “चुनिंदा” प्रमाणित करने का कार्य अक्सर नकली समाचार फैलाने के लिए हुआ है। 

@TajinderBagga

हरजोरजुल्मकीटक्करमें

संघर्षहमारानाराहैं#ProtestAgainstTwitter

1:16 AM – Feb 3, 2019

जहां एक ओर ट्विटर की प्रमुख हस्तियां इस विरोध का हिस्सा हैं, वहीं कुछ वामपंथी झुकाव वाले लोगों ने समग्र अभियान के खिलाफ साझा की।

Know The Nation

 •

February 3, 2019 •

Is Twitter Trying To Malign India’s Global Image? #ProtestAgainstTwitter

Twitter India is scrupulously providing a platform to anti-national elements by giving various leeways to them, despite their activities. This should stop at once & people who are trying to defile India’s image globally, should be brought to books at once.#ProtestAgainstTwitter

////////////////////

मेरिकी राष्ट्रपति और ट्विटर में तकरार, ट्रम्प के ट्वीट पर फिर की कार्रवाई

अमेरि की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और ट्विटर मेंट कराव एक बार फिर बढ़ गया है. डोनाल्डट्रंप के एक ट्वीट पर ट्विटर ने आपत्तिजताई है और उसने ट्रम्प केट्वीट पर कार्रवाई की है. इससे  व्हाइट हाउस नाराज हो गया है.

नईदिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक ट्वीट पर ट्विटर ने आपत्तिजताई है. इससे पहले भी ट्विटर अमेरिकी राष्ट्रपति के एक ट्वीट को आपत्तिजनक बता चुका है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक ट्वीट पर वार्किंग नोटिस लगाया है. ट्रंप के ट्वीट को पिछले 4 दिनों में ट्विटर ने दूसरी बार रेड फ्लैग किया है. नए ट्वीट मंं ट्रंप ने मेनिया पोलि सदंगोंकोले कर कमेंट किया.

आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप का ट्वीट मे निया पोलिस के दंगों कोले कर था. पिछले कुछ दिनों से मेनिया पोलिस में दंगों की आग भड़क रही है. यहां एक पुलिस पर जॉर्ज फ्लॉयड नाम के अश्वेत नागरि की हत्या का आरोप है. बताया जाता है कि एक पुलिस वाले ने जॉर्न फ्लॉयड नाम के एक शख्स की गर्दन को घुटनों के नीचे दबा कर मार डाला. इतना ही नहीं रिपोर्ट्स में बताया जाता है कि जॉर्ज ने पुलिस से सांस लेने में दिक्कत होने की बात भी कही थी.

ट्रम्प ने ट्वीट कर के प्रदर्शकों को बताया था हिंसकऔर लुटेरा

डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट में प्रदर्शन कारियों को लुटेराऔरहिंसक बताया है. उन्होंने कहा कि फेडरलगर्वन में टउन पर कंट्रोल करने के लिए अगर जरूरी हुआ तोगो लीचलाने काआदेश भी दे सकती है. ट्रंप के इस ट्वीट के 3 घंटे बाद ट्विटर ने एक वार्किंग नोटिस जारी किया. ट्विटर ने कहा कि दूसरों को रोकने के लिए कार्रवाई की धमकी देना हिंसा को बढ़ावा देता है

एक अश्वेत की हत्या के बाद भड़के दंगे

आपको बता दें कि अमेरिका के मिनेसोटा राज्य के मिनीपोलिस शहर में एक अश्वेत की पुलिस के हाथों मौत के बाद दंगे भड़क गए. पुलिस स्टेशन को तोड़ फोड़ के बादआग के हवाले कर दिया गया. कुछ जगहों पर लूटपाट हुई. हालात बिगड़ते देख गवर्नर टिमवॉल्जने इमरजेंसी लगा दी. 26 मईको एक अश्वेत जार्ज फ्लायड को पुलिस ने धोखाधड़ी के मामूली आरोप में गिरफ्तारकिया. इस दौरान एक पुलिसअफसर उसे सड़क पर उल्टा लिटा कर पांच मिनट तक घुटने से गर्दन दबाए रहा था.उस के हाथों मेंहथ कड़ी थी. इसका वीडियो भी वायरल हुआ था. 40 साल का जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने की गुहार लगातार हा था.

////

ट्विटर के खिलाफ भेदभाव का आरोप लगाकर राइट-विंग समर्थक कैंपेन चला रहे हैं. ऐसे में ट्विटर पर ही #ProtestAgainstTwitter ट्रेंड कर रहा है. आरोप है कि ट्विटर के प्लेफॉर्म पर गैर-वामपंथी विचारधारा के लोगों के साथ ‘सौतेला’ व्यवहार किया जारहा है. उनके ट्विटर हैंडल को बैन करने और सस्पेंड करने जैसे कदम उठाए जा रहे हैं.

इस मामले को लेकर राजधानी के साकेत मेट्रो स्टेशन के बाहर एक प्रोटेस्ट मार्च का आयोजन भी किया गया. प्रदर्शन करने वालों का कहना है कि ट्विटर अपने यूजर्स के वेरिफिकेशन को लेकर भी भेदभाव करता है और उनका कहना है कि शिकायत होने की स्थिति में ट्विटर इंडिया उनके समर्थकों के अकाउंट को बंद करने में जरा भी देर नहीं लगाती.

राइट विंग समर्थक यूजर्स ने ट्विटर को कांग्रेस का ट्विटर बताते हुए लिखा कि कानून सभी के लिए एक समान होना चाहिए. लेकिन ऐसा कईबार हुआ है जब इस प्रकार का भेदभाव हमें ट्विटर की तरफ से देखने को मिलता है

////

Tages –

रामदेव बाबा, जैक डोरसे,वामपंथी, कट्टरपंथी विचारधारा,TikTok,माइक्रोसाफ्ट,ट्वीटर