कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा जारी निर्देशों में अब विद्यार्थियों कोशालाओं में नया दाखिला 31 जुलाई तक ही दिया जाएगा और साथ ही उनकी औपचारिकताएं भी पूर्ण कर ली जाएगी। मण्डल सचिव की अनुमति से16 अगस्त 2018 तक प्रवेश तथा कक्षा 10वीं के पूरक प्राप्त छात्रों को अगली कक्षा में अस्थाई प्रवेश दिया जाएगा। पूरक परीक्षा परिणाम घोषित होनेपर ही उन्हें 15 दिवस के भीतर प्रवेश की पात्रता होगी। शासकीय सेवक की स्थानांतरण की स्थिति में विद्यार्थियांे को 30 नवम्बर 2018 तक प्रवेशदिया जाएगा।
इसके अलावा संस्था के प्राचार्य 10 प्रतिशत अधिक प्रवेश देना चाहते हैं तो उन्हें आवश्यकतानुसार भवन विस्तार, शिक्षक, स्टाफ, फर्नीचर आदिकी पर्याप्त व्यवस्था कर स्कूल भवन का नक्शा एवं फोटो संबंधित अनुविभागीय अधिकारी से अभिप्रमाणित करवाकर निर्धारित प्रपत्र में मण्डलकार्यालय को आवेदन प्रस्तुत करें तथा मण्डल कार्यालय द्वारा अनुमति दिए जाने पर ही अतिरिक्त प्रवेश दिया जा सकेगा। विद्यालय में अपात्रविद्यार्थियांे को प्रवेश देने पर विद्यार्थी का प्रवेश निरस्त किया जाएगा और संबंधित विद्यालय की मान्यता भी समाप्त करने की कार्यवाही कीजाएगी।
क्रेडिट योजना के अन्तर्गत प्रथम बार सम्मिलित छात्र उत्तीर्ण होने पर अगली कक्षा तथा अनुत्तीर्ण होने पर उसी कक्षा में नियमानुसार नियमितप्रवेश ले सकेगा। हाईस्कूल एवं हायर सेकण्डरी परीक्षा में प्रथम बार अनुत्तीर्ण विद्यार्थी को प्रवेश की पात्रता होगी लेकिन उन्हें ग्राह्यता की कार्यवाही31 अगस्त तक अनिवार्यतः पूर्ण करनी होगी। ग्राह्यता हेतु शुल्क एवं निर्धारित प्रपत्र तथा प्रवेश की प्रक्रिया पूर्ण होने उपरान्त प्रवेश सूची अनिवार्य रूपसे मण्डल में 31 अगस्त 2018 तक अनिवार्य रूप से निर्धारित प्रपत्र वेबसाइट www.vidia.cgbse.nic.in में आॅनलाइन प्रविष्टि करें।
कक्षा 9वीं में प्रवेश की प्रक्रिया पूर्णतः आॅनलाइन होगी। कक्षा 8वीं के उत्तीर्ण छात्रों को पात्रतानुसार निर्धारित अवधि तक ही प्रवेश दिया जाएगा।समस्त नवीन प्रवेश प्राप्त विद्यार्थियों को नामांकन करवाना अनिवार्य हैं अन्यथा इसके अभाव में किसी भी परीक्षा में बैठने के लिए अपात्र होंगे। छात्रोंका एक बार नामांकन होने के पश्चात् किसी भी परिस्थिति में छात्रों से दोबारा शुल्क नहीं लिया जाएगा। दो वर्ष तक लगातार अनुत्तीर्ण होने वाले छात्रको केवल स्वाध्यायी परीक्षा में शामिल हो सकेगें। इस दौरान विज्ञान संकाय का छात्र किसी भी विषय या संकाय में, वाणिज्य संकाय का छात्र विज्ञानविषय को छोड़कर किसी भी अन्य संकाय तथा कला संकाय का छात्र कला संकाय में ही विषय परिवर्तन कर सकता हैं। किसी भी संकाय के अनुत्तीर्णछात्रों को हायर सेकण्डरी व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम चयन करने की पात्रता होगी।

Leave comment