मौसम का मिजाज एक बार फिर बदलने वाला है।

 मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार से शुरू होकर बारिश का यह दौर दो दिन तक चलेगा। भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) की ताजा भविष्यवाणी के मुताबिक एक बार फिर दिल्ली में झमाझम बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है। गुरुवार और शुक्रवार को दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों में भी तेज बारिश की संभावना है। ऐसे में एक बार फिर में जलभराव की स्थिति पैदा हो सकती है। स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत का कहना है कि झारखंड की तरफ जो साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है, वह भी धीरे-धीरे पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहा है। इन सभी प्रभावों से गुरुवार और शुक्रवार को अच्छी बारिश होने की संभावना बन रही है।

मध्य प्रदेश पर मॉनसून फिर मेहरबान नज़र आ रहा है। जबलपुर, सागर, सतना, खजुराहो से लेकर भोपाल, इंदौर, उज्जैन, रतलाम तक बारिश के आसार हैं। अगले 24 घंटों में पश्चिमी मध्य प्रदेश में श्योपुर, गुना, राजगढ़, आगर-मालवा, नीमच, मंदसौर, रतलाम, झाबुआ और उज्जैन में भी हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वी मध्य प्रदेश में रीवा, सतना, पन्ना, छतरपुर, खजुराहो, सिंगरौली, सीधी, शहडोल, जबलपुर, नरसिंहपुर, उमरिया, मंडला, बालाघाट, डिंडोरी, छिंदवाड़ा में बारिश देखने को मिलेगी। 6 से 8 सितंबर के बीच बारिश के एक नया दौर मध्य प्रदेश पर देखने को मिलेगा। उस दौरान बारिश की तीव्रता अधिक होगी और बारिश का प्रभाव उत्तरी तथा उत्तर-पूर्वी जिलों पर अधिक रहने की संभावना है। बारिश की गतिविधियां 3 सितंबर को बढ़ेंगी और पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों के साथ-साथ मध्य इलाकों में भी बारिश दर्ज की जाएगी। इस दौरान भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद और आसपास के जिलों में भी बारिश हो सकती है। स्‍कायमेटर के अनुसार मध्य प्रदेश पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है और मॉनसून की अक्षीय रेखा इस सर्कुलेशन के आसपास है जिसके चलते राज्य के विभिन्न भागों पर फिर से मॉनसून सक्रिय हो रहा है।