मध्य प्रदेश में अब सात सितंबर से होगी खाद्यान्न बांटने की शुरुआत

प्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए पात्र 37 लाख से ज्यादा नए उपभोक्ताओं को पात्रता पर्ची और खाद्यान्न वितरण के महाअभियान की शुरुआत अब सात सितंबर से होगी। पहले यह तीन सितंबर से प्रस्तावित था, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी के निधन के दिन से सात दिवसीय राष्ट्रीय शोक है।

इस कारण तय किया गया है कि महाअभियान अब सात सितंबर से 15 सितंबर के बीच आयोजित किया जाएगा। संचालक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति तरुण कुमार पिथौड़े ने बताया कि प्रदेश के सभी 52 जिलों में एक साथ खाद्यान्न पर्ची के वितरण का महाअभियान होगा।

प्रदेश सरकार ने अपात्रों के नाम सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न पाने वालों की सूची से हटाकर 37 लाख नए नाम शामिल किए हैं। इसके लिए एक महाअभियान चलाया गया। इन सभी को पात्रता पर्ची देने के साथ सितंबर से ही गेहूं, चावल, नमक और घासलेट (मिट्टी का तेल) मिलना शुरू हो जाएगा।