वर्षा ऋतु के बुढ़ापे का संकेत खिल गया कांस का फूल

छत्तीसगढ़ में अच्छी बारिश होने के कारण सभी तालाब लबालब हो गए हैं। साथ ही अब कई इलाकों में कांस के फूल भी खिलते दिखाई दे रहे हैं, जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि जल्दी ही वर्षा ऋतु विदाई लेने वाली है। इसके अलावा बिलासपुर जिले के बिल्हा ब्लॉक में दो गांव ऐसे हैं जहां के ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है। पीएम आवास के मकान कैसे होते हैं। न जानते हैं और न ही गांव में इस तरह का मकान बनते देखा है। वहीं जांजगीर में पिता ने डंडे से पुत्र के सिर पर वार कर दिया, जिससे बेटे की मौत हो गई। छत्तीसगढ़ की अन्य महत्वपूर्ण खबरें इस प्रकार है –

बिलासपुर। बिलासपुर जिले के बिल्हा ब्लॉक में दो गांव ऐसे हैं जहां के ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है। पीएम आवास के मकान कैसे होते हैं। न जानते हैं और न ही गांव में इस तरह का मकान बनते देखा है। जिला प्रशासन के अफसरों की लापरवाही कहें या ग्रामीणों में जागरूकता की कमी। वर्ष 2011 में जब देशभर में आर्थिक जनगणना का दौर चला तब ब्लॉक के दो गांव पिरैया और कुटीपारा में जनगणना कर्मी नहीं पहुंचे। लिहाजा इन दो गांवों के गरीबों का नाम बीपीएल सर्वे सूची में शामिल नहीं हो पाया। आंकड़ों पर नजर डालें तो पिरैया में 560 और कुटीपारा में 532 गरीबों का नाम आर्थिक जनगणना सूची से बाहर है। इसके चलते केंद्र सरकार की तमाम महत्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ इन्हें नहीं मिल पा रहा है। पीएम आवास के अलावा बीपीएल परिवार को मिलने वाले खाद्यान्न् योजना के लाभ से भी ये वंचित हैं।