पहला ईथेनाल प्लांट भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना में लगेगा

भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना कवर्धा में पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल से ईथेनाल प्लांट शीघ्र स्थापित किया जाएगा। सहकारी क्षेत्र में स्थित शक्कर कारखाना में पीपीपी मॉडल से ईथेनाल प्लांट की स्थापना का यह पहला उदाहरण होगा, जिससे क्षेत्र में रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे साथ ही आर्थिक समृद्घि का आधार मजबूत होगा। ईथेनाल प्लांट स्थापना से गन्ना किसानों और कारखानों को वित्तीय लाभ होगा।

मुख्य सचिव आरपी मंडल की अध्यक्षता में भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना मर्यादित कवर्धा में पीपीपी मॉडल से ईथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए अंतिम अनुमोदन के लिए गुरुवार को मंत्रालय में बैठक हुई। इसमें सचिव सहकारिता तथा पंजीयक सहकारी संस्थाएं ने ईथेनॉल प्लांट की स्थापना के संबंध में जानकारी दी।

बैठक में ईथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए वित्तीय निविदा आमंत्रित करने और निवेशक के साथ अनुबंध करने के प्रारूप को अनुमोदित किया गया। ईथेनॉल प्लांट की स्थापना की भी अनुशंसा की गई। इससे कारखाना में ईथेनॉल प्लांट की स्थापना का रास्ता साफ हो गया है। तकनीकी निविदा में सफल निविदाकारों से ई-प्राक्योरमेंट पोर्टल के माध्यम से वित्तीय निविदा आमंत्रित की जाएगी ।

बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त विभाग अमिताभ जैन, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, विधि एवं विधायी कार्य विभाग के प्रमुख सचिव नरेश कुमार चंद्रवंशी, सहकारिता विभाग के सचिव प्रसन्ना आर, पंजीयक सहकारी संस्थाएं हिमशिखर गुप्ता सहित सहकारिता विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।