विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब कोरोना वैक्सीन को लेकर फिर से नया बयान जारी किया है

कोरोना पर टेंशन, डबलूएचओ ने कहा- अगले साल के मध्य तक नहीं बनेगी कोरोना वैक्सीन दरअसल, उनका मानना है कि कोरोना वैक्सीन अगले साल के मध्य तक नहीं बनेगी. डब्ल्यूएचओ के प्रवक्ता मार्गरेट हैरिस ने कहा कि अब तक उन्नत नैदानिक परीक्षणों में से जितनी भी दवा कंपनियां वैक्सीन बना रही हैं, उनमें से कोई भी अभी तक कम से कम 50 प्रतिशत के स्तर पर खरी नहीं उतरी है.

वहीं दूसरी तरफ, अमेरिकी संस्था सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने जन स्वास्थ्य से जुड़ी एजेंसियों को बताया है कि वह अक्टूबर या नवंबर तक दो वैक्सीन तैयार कर सकता है. पिछले सप्ताह सीडीसी द्वारा जन स्वास्थ्य से जुड़ी संस्थाओं को भेजे गए दस्तावेजों में वैक्सीन को ए और बी नाम दिया है. इसमें वैक्सीन से जुड़ी जरूरी अहम जानकारियां शामिल हैं. जैसे वैक्सीन की खोज के बीच के समय किस तापमान पर उन्हें रखना है. यह मानक मॉडर्ना और फाइजर कंपनी द्वारा तैयार वैक्सीन के मानकों से मिलते जुलते हैं.

साथ ही, अमेरिका में एस्ट्राजेनेका द्वारा तैयार की जा रही कोरोना वैक्सीन का ट्रायल तीसरे चरण में पहुंच गया है. कंपनी के मुताबिक, अमेरिका में कुल 80 जगहों पर 30 हजार स्वयंसेवकों पर इसका परीक्षण चल रहा है. हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ये ऐलान किया था कि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन परीक्षण के तीसरे चरण में पहुंच गई है और वह उन वैक्सीन्स की सूची में शामिल हो गई है, जिसका इस्तेमाल बहुत जल्द कोरोना से लडऩे में किया जाएगा. इसी महीने इसके बाजार में आने की उम्मीद जताई जा रही है.