मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान-2019 की रेंकिंग में मिला चौथा स्थान

केन्द्र सरकार द्वारा जारी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस-2019 की रैंकिंग में मध्य प्रदेश को देश में चौथा स्थान हासिल हुआ है. मध्य प्रदेश को ये उपलब्धि साल 2018 में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए हुए कामों के आधार पर मिली है. 

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मामले में पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर क्रमश: आन्ध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश व तेलंगाना आये हैं. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस-2019 की रेंकिंग की घोषणा नई दिल्ली के नये मीडिया सेंटर में आयोजित कायज़्क्रम में केन्द्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के चौथे संस्करण में की. कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल, हरदीप सिंह पुरी और सोम प्रकाश भी मौजूद रहे.

बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के कार्यान्वयन के आधार पर राज्यों की रेंकिंग साल 2015 में शुरू हुई थी. 2018 की अवधि में सुधार के लिये 187 बिन्दु निर्धारित थे, जिन पर मूल्यांकन किया गया. मूल्यांकन उपयोगकर्ता की प्रतिक्रिया पर आधारित था.

मध्य प्रदेश ने पिछली रेंकिंग की तुलना में 3 स्थानों की छलांग लगाई है और इस बार जारी रेंकिंग में सातवें स्थान से ऊपर उठकर चौथा स्थान हासिल किया है. बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान 2018-19 में टॉप 10 राज्यों में आन्ध्रप्रदेश, उत्तरप्रदेश, तेलंगाना, मध्यप्रदेश, झारखण्ड, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, पश्चिम बंगाल और गुजरात शामिल हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान-2019 की रेंकिंग में मध्यप्रदेश को मिली चौथे नम्बर की रेंकिंग के लिये खुशी जाहिर की. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय रेंकिंग के लिये निधाज़्रित विभिन्न 12 क्षेत्रों में बेहतर काम होने पर मध्य प्रदेश को यह सफलता मिली है. 

उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों से जुड़े सभी विभागों ने अच्छा काम किया है, जिसका मूल्यांकन केन्द्र सरकार द्वारा किया गया और मध्यप्रदेश में हुए कार्यों की सराहना की है. मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश ने बिजनेस रिफार्म मामले में शत-प्रतिशत स्कोर हासिल किया है.