लॉकडाउन के बाद पहली बार चली ट्रेन 24 बोगी में 128 यात्रियों को लेकर दौड़ी

इंदौर-जबलपुर एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन के सुबह 9.40 बजे पहुंचे के साथ ही इंदौर रेलवे स्टेशन से लॉकडाउन के बाद ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई। यह ट्रेन शाम 7.30 बजे जबलपुर के लिए प्लेटफार्म-1 से रवाना होगी। अनलॉक के बाद पहली बार सवारियों को लेकर दौड़ी इस 24 बोगी की गाड़ी में सिर्फ 128 सवारियों ने यात्रा की। ट्रेन का इंदौर पहुंचने का समय सुबह 9.55 बजे था, लेकिन ट्रेन 15 मिनट पहले ही यहां पहुुंच गई। ट्रेन से उतरने के साथ ही सभी यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ एक्जिट गेट से बाहर निकाला गया। स्टेशन से यात्रियों के बाहर निकलते ही ट्रेन सहित पूरे परिसर को तत्काल सैनिटाइज किया गया। इटारसी ने ट्रेन में सवार हुई सोनाली मालवीय ने कहा कि ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यात्रा की गई। व्यवस्थाएं ठीक हैं, बस कुछ जगह सुधार की जरूरत है। अभी तो स्टेशन पर 50 फीसदी के करीब भीड़ दिखी। आने वाले समय में जिंदगी जरूर पटरी पर आ जाएगी। भोपाल से आए मनीष झा से कहा कि ट्रेन में व्यवस्थाएं ठीक थी। अभी भी लोगों में कोरोना को लेकर डर है, इसलिए बहुत कम यात्री थे। पूरी ट्रेन खाली-खाली थी। वहीं करेली से आए आशुतोष शर्मा ने कहा कि सुविधाएं अच्छी थीं। करीब छह महीने बाद इंदौर आया हूं। होशंगाबाद से आई महिला ने कहा कि सभी नियमों को पालन किया। हम सुबह ट्रेन के निकले के एक घंटे पहले ही पहुंच गए थे। पीआरओ जितेंद्र कुमार जयंत के अनुसार जबलपुर से रवाना होकर इंदौर आई ट्रेन सुबह 15 मिनट पहले 9.40 बजे स्टेशन पहुंची। इसमें करीब 128 यात्री आए हैं, इनमें एक बच्चा भी शामिल है। शाम को जबलपुर के लिए रवाना होने वाली ट्रेन के लिए एक ही एंट्री गेट है। स्टेशन में घुसने के पहले यात्रियों को सैनिटाइज, थर्मल स्क्रीनिंग के अलावा कैमरे के जरिए उनके टिकट को चेक किया जाएगा। कन्फर्म टिकट होने के बाद ही यात्री को एंट्री मिलेगी। इसके अलावा इंदौर से नई दिल्ली चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस और इंदौर से हावड़ा के लिए जाने वाली क्षिप्रा एक्सप्रेस का संचालन 12 सितंबर से शुरू हो जाएगा।