शहर के थानों में लगातार कोरोना फैल रहा है। अब तक 12 से ज्यादा टीआई पॉजिटिव आ चुके हैं।

दिन में चार बार नहा रहे, कम लोगों से मिलते फिर भी संक्रमित, 12 से ज्यादा टीआई पॉजिटिव, 6 आइसोलेट अब बाकी को थाने जाने में लग रहा है इनमें 6 टीआई आइसोलेटेड हैं। इससे अन्य थानों के टीआई तनाव में हैं, क्योंकि एहतियात बरतने के बावजूद उनके साथी संक्रमित हो रहे हैं। अफसरों से सलाह ली जा रही है कि आखिर क्या करें।

जूनी इंदौर टीआई देवेंद्र चंद्रवंशी की मौत के बाद सभी थानेदारों ने एहतियात बरतना तेज कर दिया था। काड़ा लगातार ले रहे थे। दिन में चार बार नहा रहे हैं। कम से कम लोगों से मिलने की प्रयास कर रहे हैं, लेकिन फिर भी संक्रमित हो रहे हैं।

थाना प्रभारियों का कहना है कि थाने पर बिना किसी से मिले या बिना किसी से संपर्क में आए काम नहीं चल सकता। किसी बदमाश को थाने लाने पर उससे पूछताछ करना भी जरूरी है। फरियादी से भी बात होना है। कितनी भी सावधानी बरत लें, संक्रमण फैलने की संभावनाएं खत्म नहीं होती। अब वे अफसरों से सलाह ले रहे हैं कि आखिर क्या करें। उधर, कई थानों पर तो थानेदार न के बराबर जा रहे हैं। दोपहर में दो-तीन घंटे के लिए जाते हैं। कुछ टीआई सीधे अपने कैबिन में जाकर बैठ जाते हैं। फिर बाहर नहीं निकलते।

स्व. देवेंद्र चंद्रवंशी (जूनी इंदौर), संतोष यादव (खजराना), विजय सिसौदिया (एमआईजी), निर्मल श्रीवास (तुकोगंज), राहुल शर्मा (एरोड्रम), विनोद दीक्षित (पलासिया), कमलेश शर्मा (तुकोगंज), ज्योति शर्मा (महिला थाना), इन्द्र मणि पटेल (लसूड़िया), प्रीतम ठाकुर (मल्हारगंज) संतोष दूधी सांवेर और टीआई सविता चौधरी (रावजी बाजार) के साथ अब तक 131 पुलिसकर्मी संक्रमित हो चुके।