Editorial: दाऊद ने दी मातोश्री उड़ाने की धमकी

08 Sepetember 2020

अब उद्धव सरकार की बीएमसी ने कंगना
के मुंबई ऑफिस गिराने की दी धमकी

केंद्र से सुरक्षा मिलते ही बौखला गई उद्धव सरकार, कंगना के मुंबई ऑफिस पर बीएमसी ने
मारा छापा – अभिनेत्री कंगना रनौत को केंद्र सरकार से वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलते ही उद्धव ठाकरे की शिवसेना सरकार बौखला गई है। शिवसेना नेताओं की ओर से मिल रही धमकियों के बाद सुरक्षा दिए जाने की खबर मिलते ही बृह्नमुंबई यूनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) ने मुंबई में कंगना की प्रोडशन कपनी के ऑफिस में छापा मार दिया। बीएमसी के अफसरों का कहना है कि वे ऑफिस में गैरकानूनी निर्माण की जांच कर रहे हैं। कंगना ने किसी भी गैरकानूनी काम से इनकार किया है। कंगना ने ट्वीट करते हुए में लिखा कि ये मुंबई में मणिकर्णिका फि़ल्ज़ का ऑफि़स है,
जिसे मैंने पंद्रह साल मेहनत कर के कमाया है, मेरा जि़ंदगी में एक ही सपना था मैं जब भी फि़ल्म निर्माता बनूँ मेरा अपना खुद का ऑफि़स हो, मगर लगता है ये सपना टूटने का वक़्त आ गया है, आज वहाँ अचानक बीएमसी के कुछ लोग आए हैं।

उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री को मिली बम से उड़ाने की धमकी, दाऊद के नाम पर आया फोन
महाराष्ट्र के मुयमंत्री उद्धव ठाकरे के बांद्रा स्थित निवास मातोश्री को बम से उड़ाने की धमकी मिली है. धमकी भरा कॉल आने के बाद से मातोश्री की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. ठाकरे के निवास को उड़ाने की यह धमकी दाऊद के नाम से दी गई है. मुंबई क्राइम ब्रांच मामले की जांच में जुट गई है.

धमकी के मद्देनजर कंगना को मिली वाई श्रेणी की सुरक्षा – इसके पहले कंगना रनौत को
शिवसेना नेताओं की ओर से लगातार मिल रही धमकियों के बीच वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई। सुशांत मामले में मुखर कंगना को शिवसेना सांसद संजय राउत ने तो पहले मुंबई न आने की धमकी दी फिर बेहद ही आपत्तिजनक शब्दो का इस्तेमाल करते हुए हरामखोर तक कह डाला।

एक अन्य ट्वीट में कंगना ने लिखा कि उन्होंने जबरदस्ती मेरे ऑफिस पर कज़ा कर लिया है।
नापजोख कर रहे हैं। जब मेरे पड़ोसियों ने विरोध किया तो उन्हें भी धमकाना शुरू कर दिया। उनकी भाषा कुछ इस तरह थी- वो जो मैडम है, उसकी करतूत का परिणाम सबको भरना होगा। मुझे बताया गया है कि कल मेरी प्रॉपर्टी को गिराया जाएगा।

Sushant Singh Case- जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार पुलिस के ढ्ढक्कस् अधिकारी को क्चरूष्ट
ने जबरन किया क्वारंटीन

जुलाई ०३, २०२० – सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की जांच के मामले में बिहार पुलिस की
टीम जो जांच के लिए मुंबई पहुंची थी उसके मुखिया को ही बीएमसी ने जबरन क्वारंटीन कर दिया है। इस टीम की अगुवाई आईपीएस अधिकारी बिनय तिवारी कर रहे थे जिन्हें बीएमसी अधिकारियों ने जबरन क्वारंटीन कर दिया था।