11 सितंबर से प्रदेश में बरसात का सिलसिला शुरू होने की संभावना है।

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने लगा है। इसके प्रभाव से 11 सितंबर से प्रदेश में बरसात का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। उधर, उत्तरप्रदेश से राजस्थान तक बनी एक द्रोणिका (ट्रफ) की वजह से प्रदेश में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में मंगलवार को सुबह 8ः30 बजे से शाम 5ः30 बजे तक छिंदवाड़ा, दमोह में 3, बैतूल में 1 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि उप्र से राजस्थान तक बने ट्रफ के कारण प्रदेश में नमी आ रही है। इससे कुछ स्थानों पर बौछारें पड़ रही हैं। बुधवार को भी राजधानी सहित कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बरसात होने के आसार हैं। बंगाल की खाड़ी में बन रहे सिस्टम के असर से 11 सितंबर से पूर्व मप्र में बरसात का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। इसके बाद पश्चिमी मप्र में भी बारिश की गतिविधियां तेज होंगी।