कोरोनाकाल में मूर्तिकारों को आर्थिक संकट से उबारेंगी मां दुर्गा

कोरोना महामारी के चलते ज्यादातर लोग आर्थिक समस्या समस्याओं से जूझ रहे हैं। देश-प्रदेश के मूर्तिकार भी उनमें शामिल हैं। इस साल कोरोना से बचाव के लिए गणेश पंडाल न लगाने की प्रशासनिक मंजूरी नहीं थी, जिसके कारण मूर्तिकारों को लाखों रुपये का नुकसान झेलना पड़ा। ऐसे में अब मां दुर्गा मूर्तिकारों को आर्थिक संकट से उबारेंगी।

दरअसल नवरात्र महोत्सव में मां की झांकियां सजाने व भव्य पंडाल लगाने की शासन ने मंजूरी दे दी है। ऐसे में मूर्तिकार अपने आय के प्रमुख स्रोत को भुना सकेंगे। शारदीय नवरात्र 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं, जो 25 अक्टूबर तक चलेंगे। ऐसे में मूर्तिकारों ने मूर्ति बनाने की प्रक्रिया शुरू भी कर दी है। एक अनुमान के मुताबिक शहर में 100 से अधिक मूर्तिकार हैं, जो देवी-देवताओं की मूर्तियां तैयार करते हैं। ज्यादातर मूर्तिकारों ने मिट्टी, लकड़ी, घास-फूस आदि मंगाकर मूर्तियां बनाने की तैयारी शुरू कर दी है।