नवादा. बिहार में प्रशासन के लाख सख्ती के बावजूद अपराधियों कै हौसले बुलंद हैं. ताजा मामला नवादा का है. जहां, राजद के जिला महासचिव कैलाश पासवान का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी गयी. कैलाश पासवान की सिरकटी लाश नालंदा जिले के खुदागंज थाना क्षेत्र के पैमार नदी के पुल के नीचे से बरामद किया गया है. अपराधियों ने शव की पहचान को छिपाने के लिए लाश से सिर को ही गायब कर दिया है. बाकी शरीर को वही छोड़ कर फरार हो गये. पुलिस मृतक के सिर की तलाश में जुटी है.
परिजनों के मुताबिक बीते 6 जुलाई को नारदीगंज के बुच्ची गांव के छोटू गुप्ता ने राजद नेता कैलाश पासवान को पंचायत में भाग लेने के लिए बुलाकर बोलेरो से ले गया था. उसके बाद से वे घर वापस नहीं लौटे. घरवालों के लाख प्रयास के बाद भी कैलाश का पता नहीं चल पाया. उसके बाद इस संबंध में नवादा जिले के नगर थाना में मृतक के पुत्र संजय ने छोटू गुप्ता के खिलाफ अपहरण कर लेने की प्राथमिकी दर्ज करायी थी.
बताया जा रहा कि समाचार पत्रों के माध्यम से नालंदा में सर कटी शव बरामद होने की सूचना मिली. इसके बाद परिजन रजौली विधायक के साथ सोमवार देर रात नालंदा सदर अस्पताल पहुंचे. जहां, कपड़े और कद से लाश की शिनाख्त कैलाश पासवान के रूप में की गयी. नालंदा पुलिस के मुताबिक 7 जुलाई को एक सिरकटी लाश माढ़ीलाल गांव के समीप से बरामद की गयी थी. लाश को अस्पताल में सुरक्षित रखा गया था.

Leave comment