मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय में पुलिस विभाग के कार्यों की बैठक ली

बैठक में बघेल ने बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित जिलों में स्थानीय युवाओं को विशेष पुलिस बल बनाकर भर्ती के निर्देश दिये. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि विशेष पुलिस बल में बस्तर के युवाओं को प्राथमिकता दी जाए. इस विशेष बल की भर्ती में चयन स्थानीय यानि पंचायत स्तर पर किया जाएगा. इससे नक्सल प्रभावित जिलों के स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. बैठक में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू भी उपस्थित रहे.

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर अंचल की कठिन भौगोलिक परिस्थितियां और स्थानीय भाषा की जानकारी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है. यदि अंदरूनी गांवों के युवाओं की विशेष बल में भर्ती की जाएगी तो पुलिस का काम और ज्यादा आसान हो जाएगा. पुलिस मुख्यालय द्वारा विशेष बल के गठन का प्रस्ताव तैयार कर जल्द ही शासन को भेजने के निर्देश दे दिए नए है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि छोटे प्रकरणों में जेल में बंद आदिवासियों की रिहाई के लिए तेजी से कार्रवाई की जाए. हर महिने प्रकरणों की वापसी की समीक्षा की जाए. इसी तरह मुख्यमंत्री ने चिटफण्ड कम्पनियों के भी प्रकरणों को तेजी से निराकरण कर संबंधित लोगों को राशि की वापसी की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए है. उन्होंने इस प्रकरणों की भी हर माह समीक्षा करने के निर्देश दिए है.