सीएम ने गरीब परिवारों को राशन देने के साथ प्रदेश में अन्न उत्सव की शुरुआत कर दी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मध्य प्रदेश के 36 लाख 86 हजार 856 गरीबों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्रता पर्ची जारी की। बुधवार को समन्वय भवन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम चौहान ने अन्न उत्सव का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने भोपाल के कुछ गरीबों को पात्रता पर्ची वितरित की।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में कोई भी भूखा रहे, कोई भी अपने हक के लिए भटके, यह मुझे मंजूर नहीं। गरीब के हक का अन्न उसे मिले, यह सुनिश्चित करना है। गरीबों का हक और अधिकार छीनने वाले लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। भगवान समदर्शी हैं। भगवान ने नदी, पहाड़ समेत सभी प्राकृतिक संसाधन सभी के लिए बनाए हैं। उन्होंने कभी भेदभाव नहीं किया। भेदभाव तो इंसानों ने ही किया। मानव जीवन का अंतिम लक्ष्य है- परमात्मा की प्राप्ति। परमात्मा पूजा करने से मिलेंगे, यह तो नहीं पता; लेकिन गरीब की सेवा कर ली तो परमात्मा निश्चित रूप से प्रसन्न हो जाएंगे। जीवन को चलाने के लिए हवा, पानी के साथ रोटी आवश्यक है। भगवान ने हवा, पानी नि:शुल्क दिया है, लेकिन रोटी तो चाहिए। गरीब को रोटी देने का यह अन्न उत्सव भाजपा सरकार का छोटा सा प्रयास है। गरीब के सुख में ही हमारा सुख है।