अयोध्या सरयू नदी के किनारे हाेने वाले कुरान की आयतों के पाठ पर प्रशासन ने राेक लगा दी है. इसके लिए प्रशासन ने सीएम कार्यालय से मिले आदेश का हवाला दिया है. आरएसएस ने भी अपने इस आयोजन से हाथ खींच लिया है. आरएसएस ने  इसे पूर्णतया निराधार एवं असत्य बताया है. बता दें कि आज कुरान की आयतों की दुआ के लिए कार्यक्रम आयाेजित किया गया था, जिसमें करीब 1500 मुस्लिम धर्मानुयायी और कई अन्य हिंदू श्रद्धालु हिस्सा लेंगे.
कार्यक्रम के अनुसार, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में आने वाले सभी मुस्लिम पहले एक साथ नमाज अदा करेंगे. फिर इसके बाद सरयू नदी तट पर स्थित राम की पैड़ी घाट पर कुरान ख्वानी का आयोजन होगा और कुरान की आयतों का 5 लाख बार पाठ किया जाएगा. कहा जा रहा है कि यह कार्यक्रम देश में सद्भावना और भाईचारे का संदेश देने के लिए आयोजित किया जा रहा है.
इस कार्यक्रम में करीब 1500 मुस्लिमों के साथ ही कई हिंदू धर्मावलंबी भी शामिल होंगे. अयोध्या के इतिहास में ये पहला मौका होगा जब इतने बड़े स्तर पर मुस्लिम समुदाय से संबंधित कोई कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इस आयोजन के दौरान मुस्लिम धर्मावलंबी वहां करीब 200 सूफी-संतों की मजार की जियारत भी करेंगे.

Leave comment