नई दिल्ली. कार का वीआईपी नंबर लेने की होड़ आज के समय में बढ़ती जा रही है. ताजा मामला राजस्थान के सीकर में सामने आया है जिसे जान आप दंग रह जाएंगे. एक शख्स ने अपनी 8.14 लाख रुपये की कीमत वाली टाटा नेक्सन के वीआईपी नंबर के लिए 7.62 लाख रुपए खर्ज कर डाले.
दरअसल राजस्थान के सीकर में परिवहन कार्यालय में कार के पंजीकरण के लिए नई श्रृंखला आरजे- 23 सीडी में वीआईपी नंबर 001 के लिए बोली लग रही थी. लगभग आधा दर्जन कार मालिक यहां बोली लगाने के लिए आए थे. यह बोली शुरु हुई थी 11,000 रुपये से और खत्म हुई 6.51 लाख रुपये पर और इसे जीतने वाले शख्स बने सुभाष कॉलोनी के बेगराज बुद्रक. तो चलिए जानते है कैसे उन्हें ये वीआईपी नंबर 7.62 लाख रुपए का पड़ा.
तो बुद्रक ने 6.51 लाख रुपये के अलावा बोली के आवेदन के लिए 1.11 लाख रुपये का डिमांड ड्राफ्ट भी लिया था. इसके अलावा बुद्रक को अपने वाहन के पंजीकरण के लिए 50,000 रुपये भी खर्च करने पड़े. यानि अगर पंजीकरण की राशि को हटा दिया जाए तो वीआईपी नंबर के लिए बुग्रक को कुल 7.62 लाख रुपये खर्च करने पड़े.
जानकारी के लिए बता दें कि बुद्रक ने वीआईपी नंबर खरीदने के लिए लगाई गई बोली का पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया है. पिछली बार एक वीआईपी नंबर की बोली 6.21 लाख रुपये में लगी थी. जो कि मर्सिडीज ई220डी कार के लिए खरीदा गया था जिसकी कीमत 57.64 लाख रुपए थी.

Leave comment