Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ भोपाल में प्रदर्शन, सीएम शिवराज बोले- शांति भंग करने वालों पर होगी कार्रवाई

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के इक़बाल मैदान में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के खिलाफ गुरुवार को  प्रदर्शन हुआ। कांग्रेस विधायक आरिफ़ मसूद की अगुवाई में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ये प्रदर्शन किया। हालांकि इस दौरान कोरोना वायरस की गाइडलाइन का पूरी तरह से उल्लंघन किया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पर सख़्ती दिखाई है और आरिफ मसूद समेत करीब 200 लोगों के खिलाफ थाना तलैया में धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल,  करीब दो सप्ताह पहले 16 अक्टूबर को फ्रांस में एक मुस्लिम अप्रवासी अब्दुल्लाख अंजोरोव ने एक टीचर सैमुअल पैटी का सिर कलम कर दिया था। पैटी ने अपने छात्रों को अभिव्यक्ति की आजादी का उदाहरण देते हुए पैगंबर मुहम्मद को दशार्ते हुए चार्ली हेब्दो के कार्टून दिखाए थे। इसे मुस्लिम अप्रवासियों ने अपने अपमान के तौर पर लिया। यहां तक कि शिक्षक ने मुस्लिम छात्रों को उनकी कक्षा में उपस्थित न होने का विकल्प भी दिया था। 

हालांकि पुलिस की कार्रवाई में चेचेन शरणार्थी अंजोरोव भी मारा गया। इस घटना के बाद से फ्रांस में कट्टरपंथी इस्लाम की निंदा की जा रही है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रों ने अपने बयान में कट्टरपंथी इस्लाम की आलोचना की थी और शिक्षक की हत्या को ‘इस्लामिक आतंकवादी हमला’ कहा था। मैक्रों के बयान को लेकर दुनिया के कई देशों में विरोध हो रहा है।