कहा : राज्य अब ‘स्मार्ट छत्तीसगढ़’ के नाम से जाना जाएगा
रायपुर जिले के लिए आबादी पट्टा वितरण योजना की भी मुख्यमंत्री के हाथों हुई शुरूआत
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की संचार क्रांति योजना का सबसे बड़ा फायदा ग्रामीण जनता को मिलेगा। वहां के किसानों और मजदूरों को भी इसका लाभ मिलेगा। डॉ. सिंह ने आज दोपहर राजधानी रायपुर में प्रदेश सरकार की संचार क्रांति योजना के तहत निःशुल्क स्मार्ट फोन वितरण के लिए प्रदेश व्यापी मोबाइल तिहार का शुभारंभ करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि फोर-जी का वह स्मार्ट फोन जो मुख्यमंत्री और मंत्रियों के पास है, वह अब गांव के मजदूरों के हाथों में भी रहेगा। छत्तीसगढ़ एक नये युग में प्रवेश कर रहा है। प्रदेश के 50 लाख लोगों के हाथों में स्मार्ट मोबाइल फोन पहुंचेगा तो यह अपने आप में एक बड़ा चमत्कार होगा। अब हमारा छत्तीसगढ़ ‘स्मार्ट छत्तीसगढ़’ के नाम से जाना जाएगा। राज्य में ट्रिपल-आईटी, भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम) और आईआईटी जैसे राष्ट्रीय स्तर के उच्च शिक्षा संस्थान भी संचालित होेने लगे हैं। प्रदेश के लोगों के जीवन में आने वाला परिवर्तन छत्तीसगढ़ के विकास का भी सूत्रधार बनेगा।
स्थानीय बूढ़ातालाब के सामने इण्डोर स्टेडियम में आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि यह देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्ट फोन वितरण योजना है और महिला सशक्तिकरण की दिशा में राज्य सरकार का एक बड़ा कदम है। उन्होंने समारोह में प्रतीक स्वरूप कुछ हितग्राहियों को  मोबाइल फोन भेंट किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर संचार क्रांति योजना के तहत राज्य में मोबाइल कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए 556 टावरों का लोकार्पण किया। उन्होंने योजना के तहत दिए जा रहे स्मार्ट फोन पर राज्य सरकार की ओर से तैयार एक मोबाइल एप्प ‘गोठ’ का भी लोकार्पण किया, जिसमें लोगों को सरकार की विभिन्न योजनाओं के साथ किसानों को खेती से जुड़े विषयों पर उपयोगी जानकारी मिलेगी। लोग इस एप्प में छत्तीसगढ़ी कला संस्कृति पर आधारित कार्यक्रम भी देख सकेंगे। डॉ. रमन सिंह ने कार्यक्रम में रायपुर जिले के लिए मुख्यमंत्री आबादी पट्टा वितरण योजना का भी शुभारंभ किया और प्रतीक स्वरूप कुछ हितग्राहियों को अपने हाथों से आबादी पट्टा सौंप कर शुभकामनाएं दी। योजना के तहत रायपुर जिले में एक लाख और रायपुर शहर में 18 हजार परिवारों को आबादी पट्टे दिए जाएंगे।
समारोह में प्रदेश सरकार के खाद्य और ग्रामोद्योग मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष और धरसींवा के विधायक श्री देवजी भाई पटेल, राज्य शासन के मुख्य सचिव श्री अजय सिंह तथा सूचना और प्रोद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, सचिव श्री संजय शुक्ला और मुम्बई की फिल्म अभिनेत्री सुश्री कंगना रनौत सहित छत्तीसगढ़  शासन तथा रायपुर जिला प्रशासन के अनेक वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।
मुख्य अतिथि की आसंदी से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा – इस योजना के तहत प्रदेश में अगले चार माह के भीतर कॉलेजों के लगभग चार लाख 60 हजार विद्यार्थियों, ग्रामीण क्षेत्रों की 40 लाख महिलाओं और शहरी क्षेत्रों के पांच लाख गरीब परिवारों को स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। उन्होंने कहा – हम सबके लिए यह अत्यंत खुशी की बात है कि राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द के हाथों जगदलपुर (बस्तर) में संचार क्रांति योजना के शुभारंभ के सिर्फ चार दिन के भीतर प्रदेश में इसके वितरण की आज शुरूआत हो गई। मुख्यमंत्री ने कहा – इस योजना के तहत जिन हाथें में स्मार्ट फोन होगा वे रेल टिकट बुकिंग सहित कई प्रकार का लेन-देन ऑन लाइन कर सकेंगे। क्रिकेट मैच भी इसमें देखा जा सकेगा। उन्होंने कहा छत्तीसगढ़ विकास की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है और तेजी से बदल रहा है। वर्ष 2003 से अब तक की यात्रा में राज्य में पलायन की समस्या खत्म हुई है। सड़क और रेल कनेक्टिविटी का विस्तार हुआ है। संचार नेटवर्क का भी विस्तार हो रहा है।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में बड़ी संख्या में उपस्थित युवाओं से कहा कि जीवन में सफलता के लिए जोश और जज्बा होना जरूरी है। डॉ. सिंह ने समारोह में मौजूद फिल्म अभिनेत्री सुश्री कंगना रनौत का उल्लेख करते हुए कहा कि सुश्री कंगना ने हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से  गांव से निकल कर आज मुम्बई के फिल्म उद्योग में अपना महत्वपूर्ण स्थान बनाया है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि छत्तीसगढ़ के 50 लाख नये हाथों में मोबाइल फोन आने पर भारत में टेलीफोन का घनत्व बढ़ेगा।
समारोह को प्रदेश सरकार के प्रमुख सचिव सूचना एवं प्रौद्योगिकी श्री अमन कुमार सिंह ने भी सम्बोधित किया। श्री सिंह ने संचार क्रांति योजना की पृष्ठ भूमि पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अप्रैल 2017 को प्रदेश व्यापी लोकसुराज अभियान के तहत राज्य के नारायणपुर, बीजापुर और सुकमा जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा किया था, जहां लोगों ने उनसे कहा था कि स्कूल, आंगनबाड़ी, अस्पताल आदि सब कुछ उनके पास है, लेकिन मोबाइल फोन नहीं है। मुख्यमंत्री को जब यह जानकारी दी गई कि छत्तीसगढ़ में सिर्फ 29 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों के पास मोबाइल फोन है, तो उन्होंने हमें यह निर्देश दिया कि ऐसी योजना बनायी जाए, जिसके जरिये मोबाईल फोन प्रदेश के सभी लोगों के हाथों में हो। उन्होंने हमें  राज्य में रेल कनेक्टिविटी की तरह मोबाइल फोन कनेक्टिविटी बढ़ाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के मार्ग दर्शन में राज्य में इस योजना की शुरूआत हुई।
श्री अमन कुमार सिंह ने कहा कि 26 जुलाई 2018 का दिन छत्तीसगढ़ के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा, जब देश के प्रथम नागरिक के रूप में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द ने बस्तर जिले में छत्तीसगढ़ सरकार की संचार क्रांति योजना का शुभांरभ किया। राजधानी के इण्डोर स्टेडियम में आज आयोजित मोबाइल तिहार के शुभारंभ समारोह को फिल्म अभिनेत्री सुश्री कंगना रनौत ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने संचार क्रांति योजना को छत्तीसगढ़ के विकास के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की दूरदर्शितापूर्ण सोच का परिचायक बताया और कहा कि इससे महिला सशक्तिकरण के लिए हो रहे प्रयासों को भी सफलता मिलेगी। कलेक्टर रायपुर श्री ओ.पी. चौधरी ने आभार व्यक्त किया।

Leave comment