Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Editorial :- मेहुल चोकसी के वकील ने स्वीकारा : राहुल गांधी के साथ है संबंध चोकसी का

भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चौकसी और राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ संबंध होने का खुलासा कल ही हमने अपनी वेबसाइट इंडिया स्पीक्स डेली मेंक्या राहुल गांधी ने बैंक लुटेरे मेहुल चौकसी को देश से भगाने में मदद की थी? एंटीगुआ सरकार मेहुल के प्रत्यर्पण पर हुई तैयार! बढ़ सकती है कांग्रेस की मुसीबतके नाम से किया था! आज कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसकी पुष्टि कर दी है।
गौरतलब है कि मेहुल चौकसी के वकील डैविड डोरसेटे ने रिपब्लिक टीवी को दिए साक्षात्कार में यह कहा है कि उनके क्लाइंट मेहुल चौकसी का कांग्रेस पार्टी से संबंध है। रिपब्लिक टीवी ने एंटीगुआ में डैविड डोरसेटे का साक्षात्कार लिया है। इस साक्षात्कार से इस खबर की पुष्टि हो गयी है कि मेहुल चौकसी को पहले बैंक से बेतहासा कर्ज दिलाने, उसके लिए स्पेशल तौर पर 80:20 स्कीम लाने, मोदी सरकार के समय जांच आगे बढऩे पर उसे देश से भगाने, फिर उसे एंटीगुआ की नागरिकता दिलाने और प्रोपोगंडा फैलाने वाले मेनस्ट्रीम मीडिया के फेकन्यूज मेकरों के साथ मिलकर मोदी सरकार को बदनाम करने के पीछे कांग्रेस और उसके अध्यक्ष राहुल गांधी का हाथ है!
एंटीगुआन के बाद विदेश मंत्री ने मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के लिए रास्ता खोलने के एक दिन बाद, भगोड़ा अपराधी ने राजनीतिक लिकं को लेकर सनसनीखेज खुलासा हुआ है, मेहुल चोकसी के वकील डेविड डोरसेट ने मोहुल और कांग्रेस के बीच कथित रूप से सांठगांठ की पुष्टि की है जिसके चलते इस मामले को इतना गंभीर बनाया गया. रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए वकील ने स्वीकार किया है कि इस मामले मेंगंभीर राजनीतिक तत्व शामिल हैंÓ.
डेविड डोरसेट से रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए कहा किउनका एक भतीजा है जो एक बलि का बकरा प्रतीत हो रहा है. अधिकारी इस मामले को उनको घसीटने की कोशिश कर रहे हैं. एक बहुत ही राजनीतिक ताकत है जो इस पूरे मामले में शामिल है और यह सिर्फ एक बैंक के मामले तक सीमीत नहीं है. भारत में इस मुद्दे पर राजनीतिक माहौल काफी गर्मा गया है. मेरा मतलब है कि विशेष रूप से राष्ट्रीय स्तर यानि लोकसभा चुनावों को समझना है जो अगले वर्ष के शुरुआती हिस्से में होने जा रहे हैं. जिसके लिए राजनीतिक दल ज्यादा से ज्यादा अपने फेवर में समर्थन चाहते हैं और मोहुल चौकसी का मामला भी उस संदर्भ में देखा जा रहा है.
उन्होंने आगे कहा किवह एक व्यापारी थे. वह एक साधारण व्यवसायी थे जिनका कांग्रेस पार्टी के साथ  ‘तालमेलÓ था, जो कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी से अलग है.  मैं यह भी जानता हूं कि वह एक क्षेत्रीय एक राजनीतिक कार्यकर्ता था, लेकिन वो अपने उन्हीं राजनीतिक लिंक के चलते आज वो मुश्किल में हैं.
पीएनबी में 1200 करोड़ रुपए से अधिक के धोखाधड़ी मामले में चोकसी उसकी कंपनियां भी जांच के दायरे में हैं. नीरव मोदी और मेहुल चौकसी, दोनों पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी 150 गारंटी पत्रों के जरिए 11,400 करोड़ रुपए से अधिक के कथित फर्जी लेनदेन में मुख्य आरोपी हैं. आरोप है कि अरबपति आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी उनके परिवार के कुछ सदस्यों ने पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी 150 गारंटी पत्रों के जरिए 11,400 करोड़ रुपए से अधिक के फर्जी लेनदेन किए.