Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

ड्रोन कैमरे से छठ घाटों की हो रही थी निगरानी, उगते सूर्य को छठव्रतियों ने दिया अर्घ

उगते सूर्य को अर्घ को देने के साथ ही आज शनिवार को लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ संपन्न हो गया. रांची के विभिन्न घाटों पर छठव्रतियों ने आज सुबह-सवेरे भगवान भास्कर को अर्घ दिया. पूजा-अर्चना की. छठ गीतों से माहौल भक्तिमय था. सुरक्षा के कड़े प्रबंध थे. इतना ही नहीं, रांची जिला प्रशासन द्वारा ड्रोन कैमरे से छठ घाटों की निगरानी की जा रही थी.

छठ महापर्व को लेकर रांची जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये थे. छठ घाटों पर सुरक्षा को लेकर पुलिसकर्मियों और दंडाधिकारियों की तैनाती की गयी थी. इतना ही नहीं ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही थी. रांची जिला प्रशासन ने महत्वपूर्ण छठ घाटों की ड्रोन कैमरे से निगरानी की.

राजधानी रांची के पांच महत्वपूर्ण छठ घाटों पर सुरक्षा को लेकर प्रशासन की पैनी नजर थी. पुलिकर्मियों की तैनाती के साथ ही ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही थी. पांच अहम छठ घाटों में धुर्वा डैम, कांके डैम, बड़ा तालाब, चडरी तालाब एवं बटन तालाब हैं. ड्रोन कैमरे से इन छठ घाटों पर नजर रखी जा रही थी. इन छठ घाटों पर प्रतिनियुक्त ड्रोन कैमरा ऑपरेटर ड्रोन से नजर बनाये हुए थे.

छठ पूजा के आयोजन में कई लोगों का सहयोग रहा. सिविल डिफेंस और सिविल डिफेंस के कैडेट्स ने सोशल डिस्टैंसिंग के अनुपालन में सहयोग किया. रांची के विभिन्न छठ घाटों पर सोशल डिस्टैंसिंग के अनुपालन को लेकर सिविल डिफेंस और एनसीसी के कैडेट्स ने सहयोग किया. घाटों पर आने वाले छठ व्रतियों के लिए सिविल डिफेंस और एनसीसी के कैडेट ने आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायीं. जिला प्रशासन ने सिविल डिफेंस, एनसीसी कैडेट्स एवं अन्य सहयोगी संस्थाओं को सफलतापूर्वक महापर्व छठ के आयोजन में सहयोग के लिए धन्यवाद दिया.