Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

छत्तीसगढ़ की मेडिकल सीटों पर संदेहास्पद भर्ती, मुख्यमंत्री बघेल ने दिए जांच के आदेश

छत्तीसगढ़ राज्य की मेडिकल सीटों में प्रवेश के लिए फर्जीवाड़े की आशंका को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने चयनित नीट के विद्यार्थियों के पालकों और रायपुर उत्तर विधायक कुलदीप जुनेजा के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात की.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ और हास्पिटल बोर्ड अध्यक्ष डा. राकेश गुप्ता अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ के शासकीय एवं प्राइवेट मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस और सभी विभिन्न चिकित्सा कोर्स में संदेहास्पद मूल निवासी प्रमाण पत्र के माध्यम से बाहरी राज्यों के छात्रों द्वारा एडमिशन लिया जा रहा है. सीएम ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिये हैं.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सिलसिलेवार पालकों द्वारा सार्थक तर्कों सहित कागजातों का सूक्ष्मता से निरीक्षण किया और प्रतिनिधिमंडल को यह आश्वासन दिया है कि छत्तीसगढ़ी मूलनिवासी छात्रों का हित सभी प्रकार से उनकी सरकार संरक्षित करने के लिए कटिबद्ध है. मुख्यमंत्री ने अतिरिक्त मुख्य सचिव सुब्रत साहू को चयनित छात्रों के मूल दस्तावेज परीक्षण करने के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य रेणु पिल्ले, संचालक चिकित्सा शिक्षा डा. आरके सिंह और नीट काउंसलिंग कमेटी के अध्यक्ष डा. विनीत जैन से एक पारदर्शी शिकायत एवं जांच प्रणाली विकसित कर यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है.

उनसे कहा गया है कि कई राज्यों में एडमिशन लिए छात्रों की शिकायत प्राप्त होने पर हर स्तर पर उनके प्रमाण पत्र की कड़ाई से जांच की जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि मेडिकल सीटों में प्रवेश के लिए फर्जीवाड़ा नहीं हो. मुख्यमंत्री के साथ विस्तृत बातचीत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह, देव लोक निर्माण गृह और जेल मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे सहित अन्य उपस्थित रहे.