रायपुर। राजधानी के इंडोर स्टेडियम में गुरुवार को विश्व आदिवासी दिवस पर विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि आदिवासी समाज प्रदेश का गौरव है। संपन्न् आदिवासी संस्कृति की वजह से देशभर में हमारे राज्य की एक अलग पहचान है।
डॉ रमन ने कहा कि आदिवासी समाज तेजी के साथ शिक्षा और सामाजिक क्षेत्र में विकास कर रहा है। इस समाज के लोगों ने कई बार हमें अपना मस्तक गर्व से ऊपर उठाने का अवसर दिलाया है।
कार्यक्रम में आदिवासी समाज के कई नेता और मंत्रियों ने भी शिरकत की। इस मौके पर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से आए आदिवासी नर्तक दलों और स्कूली बच्चों ने कई मनभावन सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। सरगुजा से आए नर्तक दल ने करमा नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी, वहीं बस्तर के नर्तक दल ने गौर बाइसन नृत्य के जरिए लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
रामकृष्ण मिशन नारायणपुर से आए बच्चों ने मलखंब के साहसिक प्रदर्शन द्वारा दर्शकों को हैरत में डाल दिया। इस अवसर पर आदिवासियों के रहन-सहन से जुड़ी चीजें और पारंपरिक औजारों की भी प्रदर्शनी लगाई गई। अलंकरण सम्मान समारोह के तहत शिक्षा खेल जैसे क्षेत्रों में शानदार प्रदर्शन करने वाले छात्रों को सम्मानित किया गया।

Leave comment