गोरखपुर : राजघाट थाने में हंगामा करने के आरोपित हिंदू युवा वाहिनी (भारत) के राष्ट्रय अध्यक्ष सुनील सिंह और चंदन विश्वकर्मा पर रासुका लगा दिया गया है। राजघाट पुलिस की रिपोर्ट पर जिला प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। दोनों इस समय जिला कारागार में बंद हैं।
¨हदू युवा वाहिनी के नेता विवेक सूर्या को धमकी देने के आरोप में पुलिस ने 31 जुलाई को मिर्जापुर के भाजपा पार्षद सौरभ विश्वकर्मा के छोटे भाई चंदन को गिरफ्तार किया था। चंदन हिंदू युवा वाहिनी (भारत) के महानगर संयोजक हैं। मामले की जानकारी होने पर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह समर्थकों संग राजघाट थाने पहुंच गए थे। आरोप है कि उन्होंने चंदन को जबरन छुड़ाने की कोशिश की थी। इस दौरान जमकर बवाल भी हुआ था। पुलिस ने सुनील समेत 11   लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। घटना के चार दिन बाद पुलिस को लालडिग्गी पार्क के पास एक कार मिली। जिसमें पेट्रोल बम और तमंचा मिला था। छानबीन में पता चला कि इसी कार से सुनील और उसके समर्थक थाने का घेराव करने पहुंचे थे। इस मामले में थाना प्रभारी ने सुनील समेत पांच लोगों पर विस्फोटक अधिनियम और आ‌र्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। पुराने मुकदमों को आधार बनाते राजघाट थाना प्रभारी ने सुनील सिंह और चंदन विश्वकर्मा पर रासुका लगाने की रिपोर्ट जिला प्रशासन के पास भेजी थी। बुधवार को डीएम ने रासुका की कार्रवाई करते हुए शासन को रिपोर्ट भेज दी। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि आपराधिक रिकार्ड को देखते यह कार्रवाई की गई है। सुनील सिंह कभी योगी आदित्य नाथ के बेहद करीबी हुआ करते थे और ¨हदू युवा वाहिनी के बैनर तले काम करते थे। पिछले लोक सभा आम चुनाव में टिकट न मिलने के कारण उन्होंने बगावत कर चुनाव लड़ा लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। यहीं से योगी आदित्य नाथ से उनकी दूरी बनती गई। हाल ही में ¨हदू युवा वाहिनी (भारत) और ¨हदू युवा वाहिनी के विवाद में कुछ लोगों से मारपीट हो गई थी। इसके बाद पुलिस ने सुनील सिंह को गिरफ्तार कर लिया था।

Leave comment