जर्मनी के हैम्बर्ग में छात्रों से बात करते हुए राहुल ने कहा कि साल 2003 में इराक पर अमेरिकी हमले के बाद एक कानून लाया गया जिसने वहां की एक विशेष जनजाति को सरकार और सेना में नौकरी पाने से रोक दिया था. राहुल ने कहा कि इराक सरकार के उस फैसले की वजह से कई लोग विद्रोही हो गए और ये विद्रोही संगठन इराक से लेकर सीरिया तक फैल गया जो बाद में  ढ्ढस् जैसा खतरनाक ग्रुप बन गया।
राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए जर्मनी में बताया कि इराक और सिरिया में आईएसआईएस का उभार बेरोजगारी के वजह से हुआ है। भारत में भी मोदी शासन के कारण है बेरोजगारी है इसी कारण भारत में भी आईएसआई  संगठित हो रही है।
. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अगर दलित और अल्सपसंख्यक जैसे समुदायों की विकास की दौड़ में अनदेखी हुई तो देश में आईएस की तरह विद्रोही और आतंकवादी ग्रुप बन सकते हैं।
राहुल गांधी के अनुसार नोटबंदी और जीएसटी के कारण भारत में गृहयुद्ध की स्थिति उत्पन्न हो रही है। उनके कहने का तात्पर्य यह है कि अल्पपसंख्यक और दलितों को सताये जाने के कारण से आईएस जैसा आतंकी संगठन तैय्यार हो सकता है।
यहॉ यह उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी के सिपहेसालार जिग्रेश मेवानी जब गुजरात विधानसभा चुनाव में खड़े हुए थे तब उन्हें आईएसआई से संबंधित संगठन पीएफआई से मदद मिली थी।
इतना ही नहीं पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी केरल में जाकर पीएफआई के कार्यक्रम में सम्मिलित हुए थे। ये ही हामिद अंसारी मनमोहन सिंह जी के साथ मणिशंकर अय्यर के निवास स्थान पर उस रात्रि भोज में शामिल हुए थे जिसमें  पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान के भारत में राजदूत भी सम्मिलित थे। ठीक इस भोज के उपरांत मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी के लिये नीच शब्द का उपयोग किया था।
राहुल गांधी के निर्देश पर सिद्धू पाकिस्तान जाकर पीओके के राष्ट्रपति के बगल में बैठे और आतंकवाद के संरक्षण पाक आर्मी चीफ बाजवा से गले लिपटे थे।
इसी परिपेक्ष्य मेें  आज भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि कांगे्रस अध्यक्ष चाईना चाईना करते हैं और सिद्धू पाकिस्तान पाकिस्तान।    
आज का ही एक समाचार हैपेरिस: ‘अल्लाहु अकबरÓ चिल्लाते हुए चाकू से किया हमला, एक की मौत, दो गंभीर रूप से घायल। राहुल गांधी के कुतर्क के अनुसार तो यह चाकूबाज बेरोजगारी की वजह से आतंकवादी बना।
राहुल गांधी ने भारत में बढ़ रही मॉब लिंचिंग के कारण भी बेरोजगारी बताया है। उन्होंने दावा किया है कि भारत में भीड़ द्वारा पीट पीट कर हत्या किये जाने की घटनाएं बेरोजगारी औश्र सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा नोटबंदी एवं जीएसटी को खराब तरीके से लागू किये जाने से छोटे कारोबार के चौपट हो जाने से उपजे गुस्से के कारण हो रही है।
राहुल गांधी ने भारत में महिलाओं की सुरक्षा और उन पर हो रहे बलात्कार के बारे में चर्चा करते हुए कहा : यह भारतीय संस्कृति है कि भारतीय पुरूष कैसे भारतीय महिलाओं को देखता है।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार की रात को जर्मनी में हैम्बर्ग में कम्पाग्नेल थिएटर बुसेरियस ग्रीष्मकालीन स्कूल में श्रोताओं के सवालों के बाद एक भाषण को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने भारतीय संस्कृति को उपहासित किया और एक कथा तैयार की, हालांकि भारतीय संस्कृति में महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार ठहराया गया था इंडिया।
जिस देश का राष्ट्रपति दलित समुदाय से हो वहां क्या दलित समुदाय इराक के इस्लामिक स्टेट को अपनी प्रेरणा बना सकता है? इस देश के दलितों की प्रेरणा हमेशा गांधी और आंबेडकर जैसे महापुरूष रहे हैं।
आज राहुल विदेशी जमीन पर बैठकर बैठकर जिन दलित और मुस्लिम समुदाय की बात कर रहे हैं, वो ये भूल रहे हैं कि कभी दलितमुस्लिम ही कांग्रेस के कोर वोटर हुआ करते थे. उसके बावजूद आज ये वर्ग हाशिए पर क्यों है? क्यों इस वर्ग के अधिक से अधिक विधानसभा सदस्य और सांसद भाजपा के ही हैं कांगे्रस के नहीं।
सबसे आश्चर्य की बात यह है कि इस प्रकार की देश की विदेश की धरती पर बेइज्जती करने वाले राहुल गांधी का रेस्क्यु ऑपरेशन मुहीम के लिये आज आगे आए हैं राजीव शुक्ला आदि।
राहुल गांधी की हरकतें लालू यादव के सुपुत्र तेजप्रताप के जैसे हो रही हैं। दोनों ही समयसमय पर अनेक प्रकार के बहुरूपीया रूप धारण कर रहे हंै, उल जलूल बिना आधार के बक रहे हैं। तेजप्रताप ने आज ही कहा है कि बीजेपी और आरएसएस उसकी हत्या कराना चाहती है।
दोनों में अंतर सिर्फ इतना है कि तेजप्रताप के बचाव में कोई नेता नहीं रहा है परंतु राहुल गांधी के बचाव में पूरी कांग्रेस जाती है।
राहुल गांधी और तेजप्रताप दोनों को यह सोचना होगा कि वे गंभीर बने अपना उपहास और अधिक कराये। उनके इन कृत्यों से देश का भी अपमान होता है।

Leave comment