पाक परस्त राहुल गांधी और चीन परस्त केरल के सीएम विजयन भारत को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं। देश को जाति धर्म पर बांटने और अलगाववाद को पनपाने का प्रयत्न कर रहे हैं।  वोट के लिये इस प्रकार के देश विरोधी कार्य अनुचित हैं।
राहुल गांधी ने जर्मनी में आईएसआईएस को सर्टिफिकेट देते हुए कहा है कि भारत की वर्तमान मोदी सरकार बेरोजगारी पैदा कर रही है अर्थात आईएसआईएस जॉब देने वाला संगठन है?
उन्होंने वहॉ मॉब लिंचिंग का कारण भी बेरोजगारी ही बताया। इतना ही नहीं उनके अनुसार भारत में गृहयुद्ध जैसी स्थिति और आईएसआईएस के पनपने का कारण बेेरोजगारी है।
यूके में भी आज इसी प्रकार के वक्तव्य देकर   पाक परस्त भारत में पनप रहे तत्वों को राहुल गांधी ने आक्सीजन दिया है। उन्होंने आरएसएस की तुुलना ब्रदरहुड संगठन से की है।
पाक फंडेड हुर्रियत से उत्साहित होकर भारत की सेना पर अलगाववादी तत्व पत्थर फेंकते रहते हैं। वहॉ पर पाकिस्तान से घुसपैठ किये आतंकवादी प्राय: अमरनाथ यात्रियों पर हमले करते रहते हैं।
जिस प्रकार से कश्मीर में उक्त अलगाववादी तत्वों द्वारा पाकिस्तान और आईएसआई के झण्डे लहराये जा रहे हैं उसी प्रकार से अब भारत के अन्य क्षेत्रों में भी कांगे्रस और अन्य विपक्षी पार्टियों  की शह से अलगाववादी तत्व हिंसात्मक कार्यवाही में संलग्र हैं।
आज टोंक के मलपुरा में और बरेली में कावडिय़ों पर हमले के समाचार प्राप्त हुए हैं। यहॉ यह उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी के मार्गदर्शक अशोक गहलोत का यह मलपुरा क्षेत्र प्रिय रहा है। गहलोत की शह पाकर ही वहॉ पर पाक परस्त तत्व हर समय सक्रिय रहते हैं।  पहले भी कई बार हिंसात्मक दंगे वहॉ हो चुके हैं और आईएसआई तथा पाक के झण्डे लहराते हुए भारत विरोधी नारे लगते रहे हैं।
बरेली में भी आज इस प्रकार की घटना हुई है। भारत को अपमानित करने वाले और देश की एकता को भंग करने वाले राहुल गांधी के भाषणों और केरल के सीएम विजयन के झूठी अफवाहों से जनता सावधान रहे और देश में एकता बनाये रखें।

Leave comment