नई दिल्‍ली: राजस्‍थान विधानसभा चुनाव 2018 के मद्देनजर मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा गुरुवार को सुमेरपुर कस्‍बे में पहुंची. सुमेरपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे ने गुजरात के विकास मॉडल के नाम पर बीजेपी के लिए वोट मांगे. उन्‍होंने कहा कि राजस्‍थान के विकास के लिए बीजेपी की सरकार ने बीते 5 साल में जो काम किया है, वह काम कांग्रेस बीते 50 सालों में नहीं कर पाई. यदि आप गुजरात जैसा विकास मॉडल राजस्‍थान में देखना चाहते है तो आपको बीजेपी के नेतृत्‍व वाली बीजेपी सरकार को कुछ मौके देने होंगे.
5 साल में संभव नहीं है 22 साल का काम
सुमेरपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि गुजरात के विकास मॉडल के पीछे बीजेपी के सरकार की 22 साल की मेहनत है. 22 साल की कड़ी मेहनत के बाद तैयार हुए गुजरात की तर्ज पर राजस्‍थान का विकास महज 5 साल में संभव नहीं है. उन्‍होंने कहा कि गुजरात की जनता ने विकास की महत्‍ता को समझते हुए बीजेपी की सरकार को लगातार चौथी बार जीत दिलाई है. लिहाजा, राजस्‍थान के सर्वांगीण विकास के लिए यहां की जनता को भी हर चुनाव में सरकार बदलने की परंपरा बदलनी होगी और साल के अंत में होने वाले चुनावों में बीजेपी को लगातार सेवा का मौका देना होगा.
राजे ने भुनाया मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ का विकास
मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि देश में जहां भी बीजेपी की सरकार है, वहां पर आपको विकास का मॉडल देखने को मिल जाएगा. गुजरात की तरह, मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ ने बीते वर्षों में विकास को लेकर अपनी छवि को अप्रत्‍याशित रूप से बदला है. इन राज्‍यों में भी जनता ने बीजेपी की सरकार को विकास की रफ्तार कायम रखने के लिए लगातार मौके दिए हैं. मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि अब राजस्‍थान का विकास आप सभी पर निर्भर करता है. राजस्थान विधानसभा चुनाव में बीजेपी को लगातार दूसरी बार मौका मिलता है तो अपना प्रदेश भी देश का सबसे विकसित प्रदेशों में एक होगा. वसुंधरा राजे ने गिनाई 5 सालों की अपनी उपलब्धियां
मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपने संबोधन में 5 साल की अपनी उपलब्धियों का ब्‍यौरा भी दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने गरीबी हटाओ का नारा तो नहीं दिया, लेकिन गरीबी हटाने का दिल से प्रयास किया है. हमने प्रदेश में गरीबों को सशक्त किया है. विभिन्‍न योजनाओं के जरिए महिलाओं को सशक्त बनाया है. राजश्री योजना के माध्यम से बालिका के जन्म से लेकर 12वीं कक्षा पास करने तक 50 हजार रूपये देने की व्यवस्था की है. बच्चियों की शिक्षा में आने वाले अवरोधों को खत्‍म कर साइकिल, स्कूटी, लेपटॉप व वाउचर योजना के माध्यम से उसे तरक्‍की के रास्‍ते खोले हैं.

Leave comment