पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ देशभर में कांग्रेस का बंद है. इस बंद को 21 दलों का समर्थन है जिनमें राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना भी शामिल है. हालांकि, राज्य में बंद को अन्य दलों ने समर्थन दिया है जबकि शिवसेना ने दूरी बना रखी है. हालांकि, डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए शिवसेना ने मुंबई में पोस्टर लगाए थे लेकिन भाजपा अध्यक्ष के फोन के बाद उसने इस बंद से खुद को दूर कर लिया.
मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने बताया कि पोस्टर लगाए जाने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पास आए अमित शाह के कॉल के बाद शिवसेना ने अपना स्टैंड बदला है. दावा किया जा रहा है कि अमित शाह के अलावा ठाकरे को मुख्यमंत्री फडणवीस ने भी कॉल किया था.
कहा जा रहा है कि शिवसेना अन्य मुद्दों की तरह इस मामले में भी अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा का विरोध करने की तैयारी में थी. पार्टी के कई नेता चाहते थे कि शिवसेना अन्य दलों की तरह अपना विरोध जताए लेकिन शाह के फोन के बाद यह सब बदल गया.

Leave comment