टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को पहले टेस्ट मैच में पारी और 272 रनों से रौंदकर शानदार जीत दर्ज की थी, लेकिन, ऑस्ट्रेलियाई दौरे से पहले कुछ खिलाड़ियों की फॉर्म टीम मैनेजमेंट के लिए चिंता का सबब बनी हुई है. नवंबर में ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले टीम इंडिया वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 अक्टूबर से दूसरा टेस्ट मैच खेलेगी जिसमें वह तीन खिलाड़ियों को बाहर बिठा सकती है. आइए एक नजर डालते हैं उन खिलाड़ियों पर: ओपनिंग में केएल राहुल टीम इंडिया के लिए कमजोर कड़ी साबित हुए हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट मैच में 149 रनों की पारी को छोड़ दें तो 10 पारियों में राहुल का बल्ला खामोश रहा है. धवन को टेस्ट टीम से बाहर किए जाने के बाद भारत को पृथ्वी शॉ के रूप में अच्छा विकल्प मिल गया है. लेकिन अब राहुल की फॉर्म को देखते हुए जल्द ही टीम मैनेजमेंट मयंक अगवाल को उनकी जगह मौका दे सकती हैं जो डोमेस्टिक क्रिकेट में रनों का अंबार लगाने के बाद अपने टेस्ट डेब्यू का इंतजार कर रहे हैं. टीम इंडिया की पिछली कई टेस्ट सीरीज से खराब फॉर्म में चल रहे अजिंक्य रहाणे से उम्मीदें थी कि वह राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ तो अच्छा प्रदर्शन करेंगे. लेकिन, वह उस पिच पर भी रन बनाने के लिए जूझते नजर आए जहां पृथ्वी शॉ, विराट कोहली और रवींद्र जडेजा ने शानदार शतक ठोक दिए. रहाणे के विकल्प के रूप में हनुमा विहारी तैयार बैठे हैं जिन्होंने इंग्लैंड दौरे पर अपने टेस्ट डेब्यू में गेंद और बल्ले दोनों से कमाल दिखाया था. इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों में से सिर्फ एक मैच खेलने वाले उमेश यादव का प्रदर्शन वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट टेस्ट में भी फीका रहा. वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में उमेश यादव को सिर्फ एक ही विकेट मिला. ऐसे में टीम मैनेजमेंट हैदराबाद में होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में उनकी जगह मोहम्मद सिराज को मौका दे सकती है जो मौजूदा समय में उमेश यादव से तेज और धारदार हैं. मोहम्मद सिराज की कातिलाना गेंदबाजी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने 20 फर्स्ट क्लास मैचों में 97 विकेट हासिल किए हैं. इस दौरान उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा 59 रन देकर 8 विकेट. हैदराबाद सिराज का होम ग्राऊंड भी है ऐसे में उन्हें डेब्यू का चांस मिल सकता है.

Leave comment