अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर सियासी हलचल तेज होती नजर आ रही. इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने संकेत दिया है कि दिवाली के बाद से राम मंदिर को लेकर काम शुरू हो जाएगा. सीएम योगी ने राजस्थान के बीकानेर में कहा कि दिवाली के बाद काम शुरू हो जाएगा. योगी आदित्यनाथ ने अपने बयान में कहा कि इस बार एक दिया भगवान राम के नाम जलाइए, वहां काम जल्द ही शुरू होगा. हमें दिवाली के बाद इसे करना है.’

बता दें कि इस साल अयोध्या में पिछले साल से भी अधिक भव्य तरीके से दीपोत्सव मनाने की तैयारी चल रही है. बताया जा रहा है कि इस बार करीब 3 लाख दीए जलाए जाएंगे. वहीं, इस मसले पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि ‘मैं राम जन्‍मभूमि आंदोलन में सक्रिय रूप से शामिल थी. उससे जुड़े एक मामले की सुनवाई अभी भी चल रही है. मुझे इस पर गर्व है. राम मंदिर का निर्माण मेरा सपना है, इसके लिए मेरी ओर से जिस पहल की आवश्‍यकता होगी, मैं करने को तैयार हूं.’ केंद्रीय मंत्री पीपी चौधरी ने कहा कि राम मंदिर बनना चाहिए. मामला सुप्रीम कोर्ट में है और हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द इस पर फैसला हो. मैं सरकार के बारे में नहीं कह सकता. मगर मेरी व्यक्तिगत राय है कि अगर न्याय में देरी होती है तो कानून बनाया जा सकता है.

वहीं दूसरी ओर अयोध्या विवाद सर्वोच्च अदालत के सामने है लेकिन हिंदुवादी संगठन और संत समाज दिसंबर से ही मंदिर निर्माण शुरू करने की बात कर रहे हैं. रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष वेदांती ने कहा कि सर्वसम्मति से दिसंबर से मंदिर बनना शुरू हो जाएगा. विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए 6 दिसंबर की तारीख तय की जानी चाहिए. अयोध्या विवाद पर बीजेपी और संघ नेताओं की बयानबाजी को लेकर कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों ने निशाना साधा है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा है कि मोदी सरकार अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए राम मंदिर और मूर्तियों का सहारा ले रही है.

Leave comment