छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 12 नवंबर को 18 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होना है, इस चरण में होने वाले चुनाव में 190 उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं। इनमें प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ऐसे उम्मीदवार हैं, जिनकी सालाना आय सबसे ज्यादा है।

रमन ने नामांकन के समय अपने शपथपत्र में बताया है कि बीते वर्ष की उनकी सालाना आय 34 लाख 59 हजार रुपये से ज्यादा थी। वहीं, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के देवव्रत सिंह सबसे अमीर उम्मीदवार हैं।
भाषा ने बताया है कि एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म और छत्तीसगढ़ इलेक्शन वॉच द्वारा रविवार को जारी ब्योरों के मुताबिक, पहले चरण में 18 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होना है। इस चरण में मैदान में उतरे उम्मीदवारों में से 187 उम्मीदवारों के वेबसाइट पर उपलब्ध शपथपत्रों का विश्लेषण किया गया है। तीन उम्मीदवारों के शपथपत्र स्पष्ट न होने के कारण उनका विश्लेषण नहीं हो पाया।

एडीआर और इलेक्शन वॉच द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार, सबसे अमीर तीन उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री रमन सिंह का भी नाम है। उनकी कुल संपत्ति 10,72,34,236 रुपये की है। जबकि सबसे अमीर उम्मीदवार खैरागढ़ से जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के उम्मीदवार देवव्रत सिंह हैं, जिनकी कुल संपत्ति 1,19,55,07,609 रुपये की है।

शपथपत्रों के आधार पर किए गए विश्लेषण में बताया गया कि पहले चरण के उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री रमन सिंह की वर्ष 2017-18 में वार्षिक आय सबसे ज्यादा रही है। उनकी वार्षिक आय 34,59,130 रुपये है। जबकि उनके परिवार की वार्षिक आय 59,83,853 रुपये रही है।

इस चरण में चुनाव लड़ने वालों में से 42 उम्मीदवार करोड़पति हैं। कांग्रेस और भाजपा ने जहां 13-13 करोड़पति उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) यानी अजीत जोगी की पार्टी ने चार करोड़पतियों का उम्मीदवार बनाया है।

इस बार के चुनाव लड़ने वालों में सबसे कम संपत्ति राजनांदगांव से रिपब्लिक पक्ष पार्टी से चुनाव लड़ने वाली प्रतिभा वासनिक की है। उनकी कुल संपत्ति मात्र 1200 रुपये है। इसके अलावा नौ उम्मीदवार ऐसे हैं जिनकी संपत्ति ढाई हजार से 51 हजार रुपये के बीच है। इनमें से पांच उम्मीदवार निर्दलीय हैं।

Leave comment